मिथाली राज © Getty Images
मिथाली राज © Getty Images

महिला विश्वकप में टीम इंडिया आज अपना पहला मैच इंग्लैंड के खिलाफ खेल रही है। मैच में टीम इंडिया की कप्तान मिताली राज टॉस जीती और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। इस दौरान टीम इंडिया की कप्तानी मिताली राज ने जैसे की अर्धशतक जमाया वनडे क्रिकेट में महिला क्रिकेट इतिहास का सबसे बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। मिताली राज ने लगातार सातवें मैच में ये अर्धशतक जमाया है। मिताली के पहले यह कारनामा महिला क्रिकेट के इतिहास में कोई अपने नाम नहीं कर पाया है।

मिताली ने अपनी पारी में 73 गेंदों में 71 रन बनाए जिसमें 9 चौके लगाए। मिताली के पहले टीम इंडिया के दोनों ओपनरों ने टीम इंडिया को शानदार शुरुआत दी। स्मृति मंधाना और पूनम राउत ने पहले विकेट के लिए 26.5 ओवरों में 144 रन जोड़े। स्मृति ने 72 गेंदों में 90 रन जहां 11 चौके और 2 छक्कों के माध्यम से बनाए। वहीं, पूनम रउत ने 134 गेंदों में 86 रन बनाए जिसमें 7 चौके और एक छक्का लगाया।

वहीं मध्य क्रम में मिथाली राज 73 गेंदों में 71 और हरमनप्रीत कौर 22 गेंदों में 24 रन बनाकर नाबाद रहीं। इंग्लैंड की ओर से डेनियल हेजल ने एक और हीथर नाइट ने दो विकेट लिए। इस तरह से टीम इंडिया ने 50 ओवरों में 3 विकेट पर 281 रनों का स्कोर बनाया है और इंग्लैंड को 282 रनों का लक्ष्य दिया है।

[ये भी पढ़ें: स्मृति मंधाना ने खेली तूफानी पारी, साथ ही बना डाले ये बड़े रिकॉर्ड]

इसके पहले स्मृति मंधाना ने गेंदबाज सीवर के ओवर में लॉन्ग ऑन के ऊपर से छक्का मारा। यह भारतीय पारी का छठवां ओवर था। मंधाना इस तरह से विश्व कप के इतिहास में पहले 10 ओवरों में छक्का जड़ने वाली पहली बल्लेबाज बन गईं। मंधाना आखिरकार 72 गेंदों में 90 रन बनाकर आउट हुईं। उन्होंने अपनी पारी में 11 चौके और 2 छक्के लगाए। मुंबई की रहने वाली मंधाना की उम्र अभी सिर्फ 20 साल है। लेकिन जिस तरह की आतिशी बल्लेबाजी वह कर रही हैं वह काबिले- तारीफ है।