स्मृति मंधाना  © Getty Images
स्मृति मंधाना © Getty Images

20 साल की स्मृति मंधाना ने आईसीसी महिला विश्व कप के पहले मैच में ही धमाका मचा दिया। इंग्लैंड के खिलाफ पहले मैच में टीम इंडिया की कप्तान मिथाली राज ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। दोनों भारतीय ओपनरों ने अपनी कप्तान के इस फैसले को उस वक्त सही साबित कर दिया जब दोनों ने पहले विकेट के लिए आनन-फानन में शतकीय साझेदारा निभा डाली। पूनम राउत ने इस दौरान जहां आराम से बल्लेबाजी की वहीं दूसरी ओर स्मृति ने तेज तर्रार अंदाज में 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की। स्मृति ने अपनी इस आतिशी पारी के दौरान कई बड़े- बड़े रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिए। आइए नजर डालते हैं।

1. विश्व कप के इतिहास में पहले 10 ओवरों में छक्का जड़ने वाली पहली बल्लेबाज बनी स्मृति: स्मृति मंधाना ने गेंदबाज सीवर के ओवर में लॉन्ग ऑन के ऊपर से छक्का मारा। यह भारतीय पारी का छठवां ओवर था। मंधाना इस तरह से विश्व कप के इतिहास में पहले 10 ओवरों में छक्का जड़ने वाली पहली बल्लेबाज बन गईं। मंधाना आखिरकार 72 गेंदों में 90 रन बनाकर आउट हुईं। उन्होंने अपनी पारी में 11 चौके और 2 छक्के लगाए। मुंबई की रहने वाली मंधाना की उम्र अभी सिर्फ 20 साल है। लेकिन जिस तरह की आतिशी बल्लेबाजी वह कर रही हैं वह काबिले- तारीफ है।

2. स्मृति मंदाना ने 45 गेंदों में लगाया अर्धशतक: स्मृति मंधाना ने महज 45 गेंदों में अर्धशतक ठोक दिया। भारत की ओर से यह महिला विश्व कप में दूसरा सबसे तेज अर्धशतक है। इसके अलावा इंग्लैंड के खिलाफ भी भारत की ओर से महिला विश्व कप में लगाया गया यह दूसरा सबसे तेज अर्धशतक है। इंग्लैंड के खिलाफ महिला विश्व कप में सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड श्रीलंका की एल कौशल्या के नाम है। कौशल्या ने 40 गेंदों में अंर्धशतक लगाया था। वहीं भारत की ओर से महिला विश्व कप में सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड हेमलता कला के नाम है। कला के नाम 37 गेंदों में अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड है।

3. महिला विश्व कप में मंदाना- राउत ने इंग्लैंड के खिलाफ सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड बनाया: दोनों भारतीय ओपनरों (मंधाना-राउत) ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले विकेट के लिए 26.5 ओवरों में 144 रन जोड़े। महिला विश्व कप के इतिहास में इंग्लैंड के खिलाफ भारत की ओर से किसी भी विकेट के लिए निभाई गई ये सबसे बड़ी साझेदारी है। इसके पहले ये रिकॉर्ड अंजुम चोपड़ा- आर. धार की जोड़ी के नाम था। दोनों ने 106* रन जोड़े थे।

4. महिला विश्व कप में भारत के लिए तीसरी शतकीय साझेदारी: महिला विश्व कप में भारत के लिए पी रावत- मंधाना ने तीसरी शतकीय साझेदारी निभाई है। इसके पहले साल 2013 में टी कामिनी-पी राउत की जोड़ी ने और साल 2005 में ए जैन- जे शर्मा की जोड़ी ने शतकीय साझेदारी बनाते हुए यह कारनामा अपने नाम किया था।