न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज डेवन कॉन्वे (Devon Conway)  अपने पदार्पण टेस्ट में शतक जड़कर पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।

कॉन्वे ने लॉडर्स के मैदान पर खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के पहले दिन बुधवार को इंग्लैंड के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट में नाबाद 136 रनों की पारी खेली। उनसे पहले गांगुली ने 1996 में इंग्लैंड दौरे के दौरान लॉडर्स में अपने डेब्यू टेस्ट के दौरान 131 रनों की पारी खेली थी।

कॉन्वे और गांगुली के अलावा चार अन्य बल्लेबाज भी लॉडर्स में अपने डेब्यू टेस्ट में शतक लगा चुके हैं। कॉन्वे लॉर्डस के ऐतिहासिक मैदान पर अपने डेब्यू मैच में शतक जड़ने वाले तीसरे विदेशी बल्लेबाज बने। उनसे पहले हैरी ग्राहम (1893) और सौरव गांगुली (1996) ये कारनामा कर चुके हैं।

कॉन्वे ने पहले दिन के खेल समाप्त होने के बाद कहा, “ये मेरे लिए बहुत शानदार पल है। मैं अपने टेस्ट करियर की इससे बेहतर शुरूआत के बारे में सोच भी नहीं सकता था। मेरा न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन के साथ कुछ दिन पहले बात हुई था और मैंने उनसे पूछा कि ऑनर्स बोर्ड में होना कैसा लगता है? और पहली बात उसने मुझसे कही थी ‘अब आप जानते हैं।”

विलियम्सन भी लॉडर्स में शतक लगा चुके हैं। कॉनवे जन्म से दक्षिण अफ्रीकी हैं और 2017 में न्यूजीलैंड आने से पहले तक वो जोहान्सबर्ग में रहते थे।

उन्होंने कहा, “इस अवसर को पाने के लिए एक बहुत ही खास एहसास है। निश्चित रूप से मैंने इसके बारे में (डेब्यू टेस्ट में शतक बनाने) के बारे में नहीं सोचा था जब मैंने (न्यूजीलैंड में ) कदम रखा था। अभी टेस्ट डेब्यू कर रहा हूं, इस स्तर पर खेलने का मौका मिल रहा है। मैं उन अवसरों के लिए बहुत आभारी हूं जो वेलिंगटन ने मुझे दिए हैं।”