Supreme Court sets aside life ban on S Sreesanth, asks BCCI to reconsider punishment

तेज गेंदबाज एस. श्रीसंत को सर्वोच्च न्यायालय की तरफ से शुक्रवार को बड़ी राहत मिली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की तरफ से उनपर लगाया गया आजीवन प्रतिबंध हटा दिया गया है।

सर्वोच्च न्यायालय ने शुक्रवार को भारतीय क्रिकेटर श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया और बीसीसीआई से उनकी सजा पर पुनर्विचार करने के लिए कहा। बीसीसीआई को इस मामले में अगले 3 में फैसला लेने को कहा है। श्रीसंत BCCI का फैसला आने तक खेल नहीं पाएंगे।

पढ़ें:- स्पॉट फिक्सिंग में शामिल नहीं होने की जिद पर अड़ा था : श्रीसंत

श्रीसंत को अजीत चंदीला और अंकीत चव्हाण के साथ 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दौरान स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

सर्वोच्च अदालत ने तेज गेंदबाज को राहत देते हुए उन पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा दिया और अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली पीठ ने बीसीसीआई से श्रीसंत को दिए सजा पर पुनर्विचार करने के लिए कहा है।

पढ़ें:- पुलिस की यातना से बचने के लिए स्पॉट फिक्सिंग की बात कबूली

शीर्ष अदालत ने हालांकि श्रीसंत को अभी भी मैच फिक्सिंग का दोषी माना है।