भारतीय टीम © Getty Images
भारतीय टीम © Getty Images

भले ही भारतीय टीम ने इंग्लैंड को वनडे सीरीज में हरा दिया हो लेकिन अब बारी टी20 की है। और टी20 में भारत के खिलाफ इंग्लैंड का रिकॉर्ड बेहतरीन रहा है। ऐसे में तीन मैचों की टी20 सीरीज में इंग्लैंड भारत को कड़ी टक्कर दे सकता है और थोड़ी सी चूक होने पर भारत को इसका खामियाजा उठाना पड़ सकता है। हाल ही में संपन्न वनडे सीरीज में भी इंग्लैंड का प्रदर्श खराब नहीं था ऐसे में भारत को अगर दीत के रथ पर सवार रहना है तो टी20 में पुराने रिकॉर्ड को सुधारना होगा। दोनों देशों के बीच 26 जनवरी से 3 मैचों की टी20 सीरीज खेली जाएगी। भारत का इरादा सीरीज को जीतकर तीनों प्रारूपों में इंग्लैंड को हराने का होगा तो इंग्लैंड की कोशिश टी20 सीरीज को अपने नाम करने की होगी।

इंग्लैंड का पलड़ा रहा है भारी: दोनों के बीच अब तक के मैचों की बात करें तो इंग्लैंड टीम का पलड़ा भारी रहा है। दोनों के बीच अब तक 8 टी20 मुकाबले खेले गए हैं, जिनमें इंग्लैंड ने 5 और भारत ने 3 में जीत हासिल की है। साफ है भारत के पास अपने रिकॉर्ड को सुधारने का मौका होगा और भारत का इरादा टेस्ट, वनडे की ही तरह टी20 सीरीज को भी जीतने का होगा।

टी20 में इन दोनों देशों के बीच अभी तक मा‍त्र एक सीरीज खेली गई है और दिसंबर 2012 में भारत में हुई इस दो मैचों की सीरीज में दोनों देश 1-1 से बराबर रहे थे। ऐसे में भारत के लिए ये सीरीज आसान नहीं रहने वाली क्योंकि आंकड़े भी इंग्लैंड के ही पक्ष में दिख रहे हैं और इशारा कर रहे हैं कि इंग्लैंड को टी20 में हल्के में लेना भारत के लिए बड़ी भूल साबित हो सकती है।  ये भी पढ़ें: अपने चयन को सही साबित करने की पूरी कोशिश करूंगा: परवेज रसूल

पिछले दोनों मैचों में हारा है भारत: वहीं दोनों देशों के बीच आखिरी दो मैचों की बात करें तो यहां भी इंग्लैंड भारत पर हावी नजर आ रहा है। दोनों के बीच खेले गए आखिरी दोनों ही मैचों में भारत को हार का मुंह देखना पड़ा है। साल 2012 में मुंबई में खेले गए दोनों के बीच मुकाबले में इंग्लैंड ने भारत को 6 विकेट से हराकर करारी शिकस्त दी थी। तो वहीं साल 2014 में बर्मिंघम में खेले गए रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड ने भारत को 3 रनों से हरा दिया था।

ऐसे में विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम अपने विजय अभियान को जारी रखना चाहेगी। कोहली की कप्तानी में भारत किसी भी हाल में इस सीरीज को भी अपने नाम कर इंग्लैंड को हार के साथ विदा करने की पूरी कोशिश करेगा। विराट कोहली ने जिस तरह से अब तक कप्तानी की है उसे देखकर कह सकते हैं कि ये आंकड़े सिर्फ इतिहास ही बनकर रह जाएंगे।

कैसा रहा है दोनों टीमों का पिछले साल का रिकॉर्ड: सबसे पहले भारतीय टीम की बात करें तो भारत ने साल 2016 में कुल 21 टी20 मैचों में भाग लिया। इस दौरान भारत ने ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में 3-0 से हराने में कामयाबी पाई तो श्रीलंका को अपनी मेजबानी में 2-1 से हराया। भारत ने इसके बाद बांग्लैदेश में खेले गए एशिया कप में शानदार प्रदर्शन करते हुए एशिया कप का खिताब अपने नाम किया। वहीं टी20 विश्व कप में भारत ने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया। लेकिन इसके बाद भारत के प्रदर्शन में गिरावट देखी गई और जिम्बाब्वे के खिलाफ भारत को एक मैच में हार का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी भारत ने सीरीज को 2-1 से अपने नाम किया। वहीं अमेरिका में खेली गई 2 मैचों की टी20 सीरीज में भारत 1-0 से सीरीज हार गया।

वहीं इंग्लैंड के पिछले साल के प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई 2 मैचों की सीरीज में इंग्लैंड को 2-0 से शिकस्त का सामना करना पड़ा तो वहीं विश्व कप टी20 में इंग्लैंड ने फाइनल तक का सफर तय किया जहां उसे वेस्टइंडीज के हाथों बेहद ही नाटकीय अंदाज में हार झेलनी पड़ी। वहीं इसके बाद टीम ने श्रीलंका को एक मैच की सीरीज में मात दी तो वहीं पाकिस्तान को भी एक मैच की सीरीज में पठखनी दी।  ये भी पढ़ें: ईरानी कप में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले विकेटकीपर बल्लेबाज बने रिद्धिमान साहा

साफ है दोनों टीमों के बीच जब टी20 की जंग की शुरुआत होगी तो मैच दर्शकों को काफी नजदीकी और रोमांचक मुकाबले देखने को मिलेंगे। भारत जहां सीरीज को जीतकर विराट कोहली की कप्तानी में टी20 में भी जीत के साथ शुरुआत करना चाहेगा तो इंग्लैंड टी20 सीरीज को जीतकर कम से कम एक सीरीज अपने नाम करने के इरादे से मैदान पर उतरेगा।