अंंपायर के फैसले पर आपत्ति जताने के कारण मुरली विजय पर जुर्माना लगाया गया
अंंपायर के फैसले पर आपत्ति जताने के कारण मुरली विजय पर जुर्माना लगाया गया

दुबई। भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज मुरली विजय पर अंपायर के फैसले पर असहमति जताने के आरोप में मैच फीस का 30 प्रतिशत जुर्माना लगाया है। मुरली विजय को दिल्ली में साउथ अफ्रीका के खिलाफ चल रहे चौथे टेस्ट मैच के तीसरे दिन आईसीसी की आचार संहिता के लेवल 1 के उल्लंघन का दोषी पाया गया।

गौरतलब है कि मैच के तीसरे दिन भारत की दूसरी के दौरान मोर्ने मोर्कल की एक बाउंसर से बचने के प्रयास में मुरली विजय को अंपायर कुमार धर्मसेना को विकेटों के पीछे कैच आउट करार दिया, इसके बाद विजय ने अंपायर को इशारे से दिखाने का प्रयास किया कि गेंद बल्ले की बजाय आर्म गार्ड पर लगी है।

आईसीसी ने एक प्रेस रीलीज कर बताया कि मैच रेफरी जेफ क्रो ने  विजय पर आईसीसी ने विजय पर मैच फीस का 30 प्रतिशत जुर्माना लगाया है। आईसीसी आचार संहिता के नियम 2.1.5 के मुताबिक आउट दिये जाने के बाद खिलाड़ी द्वारा किसी भी तरह का इशारा करना या आपत्ति जताना, अंपायर के फैसले का अपमान है और इसे आईसीसी के नियमों का उल्लंघन माना जाता है। also read : जानिए दिल्ली सरकार ने क्यों रद्द किया विश्व कप विजेता खिलाड़ियों का सम्मान समारोह

मुरली विजय के खिलाफ दोनों मैदानी अंपायर कुमार धर्मसेना, ब्रूस ऑक्सनफोर्ड और तीसरे अंपायर सी.के नंदन ने आरोप लगाएं। आईसीसी की धारा 1 का उल्लंघन करने पर खिलाड़ी को कम से कम आधिकारिक फटकार और ज्यादा से ज्यादा मैच फीस का 50 प्रतिशत का जुर्माना भरने का प्रावधान है। also read : क्या से क्या बन गए ये क्रिकेटर