जुलाई में अफगानिस्तान टीम के कप्तान बनाए गए राशिद खान नई भूमिका को लेकर उत्साहित हैं। ढाका में मीडिया के सामने राशिद ने कहा, “मैं अपनी नई भूमिका को लेकर बेहद उत्साहित हूं। मैं सकारात्मक रहने की पूरी कोशिश करूंगा और खेल का आनंद लूंगा।”

दरअसल बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच खेलने के लिए अफगान टीम राशिद की अगुवाई में ढाका पहुंची हैं। जहां राशिद ने कहा कि उनकी टीम टेस्ट फॉर्मेट में ढलने के लिए तैयार है।

सीमित ओवर फॉर्मेट से अपनी पहचान बनाने वाली अफगानिस्तान टीम टेस्ट क्रिकेट में अब भी कमजोर नजर आती है। राशिद का कहना है कि तीनों फॉर्मेट्स में अंतर केवल मानसिकता है और उनकी टीम टेस्ट क्रिकेट की मानसिकता में ढलने के लिए तैयार है।

अभ्यास मैच में सस्ते में आउट होने के बाद सीधा नेट्स में पहुंचे स्टीव स्मिथ

कप्तान ने कहा, “ये (टेस्ट फॉर्मेट) अलग है और इसके लिए आपको अलग तरह की मानसिकता चाहिए होती है। आपके पास ज्यादा समय होता है और टेस्ट क्रिकेट में दबाव भी ज्यादा होता है। बतौर खिलाड़ी आपको टी20, वनडे और टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए अपने आपको स्विच करना होता है और हम उसके लिए तैयार हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “हम मानसिक तौर पर तैयारी कर ली है और हमने चार और पांच दिवसीय मैच खेलने की तैयारी भी की है। हमने इस पर काम किया है, यहां आने से पहले हमारा अभ्यास कैंप अच्छा रहा था। इंशाल्लह हम सकारात्मक प्रदर्शन करने की सर्वश्रेष्ठ कोशिश करेंगे।”

इस ट्रैक पर केवल पांच विकेट खोकर अच्छी स्थिति में है टीम: मयंक अग्रवाल

विपक्षी टीम के बारे में बात करते हुए राशिद ने साफ दर्शाया कि वो बांग्लादेश को कमजोर समझने की गलती नहीं करेंगे। कप्तान ने कहा, “वो अच्छा खेल रहे हैं और विश्व कप में वो अविश्वसनीय थे। उनका क्रिकेट दिन प्रति दिन सुधर रहा है और बतौर टीम हमें इसे सकारात्मक तरीके से स्वीकार करना होगा। हम हर टीम के लिए तैयार हैं और ये हमारे लिए अच्छी सीरीज होगी।”

बांग्लादेश और अफगानिस्तान के बीच होने वाला एकमात्र टेस्ट मैच 5 सितंबर को चटगांव में खेला जाना है।