ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई टीम इंडिया वनडे सीरीज का आगाज करने को अब बेताब है. लेकिन इस दौरे की सभी चर्चाएं टेस्ट सीरीज को लेकर अभी से परवान चढ़ रही हैं, जो कि वनडे और टी20 सीरीज के बाद 17 दिसंबर से एडिलेड में शुरू होगी. इस बार टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) पहले टेस्ट के बाद ही इस सीरीज में नहीं होंगे. इसे लेकर भारतीय फैन्स की चिंताएं बढ़ रही हैं लेकिन महान टेस्ट बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का मानना है कि भारत को इस पर चिंता की जरूरत नहीं है.

विराट कोहली पितृत्व अवकाश के लिए सीरीज के बीच से ही भारत लौट आएंगे. यानी वह 4 टेस्ट की इस सीरीज के अंतिम 3 टेस्ट के लिए उपलब्ध नहीं होंगे. लेकिन गावस्कर मानते हैं कि टीम इंडिया विराट की गैर-मौजूदगी में और बेहतर खेल दिखाती है.

इस पूर्व कप्तान ने उदाहरण देते हुए बताया, ‘अगर आप देखें तो विराट के बिना टीम इंडिया ने हमेशा बेहतर ही किया है, चाहे यह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला टेस्ट हो, अफगानिस्तान से टेस्ट हो, निदाहास ट्रोफी हो या फिर 2018 का एशिया कप. भारतीय खिलाड़ी विराट के बगैर ही अपने खेला का स्तर ज्यादा बढ़ाते दिखे हैं. वह जानते हैं कि उन्हें विराट की गैर-मौजूदगी को भी कवर करना है.’

गावस्कर ने यह बात सोनी नेटवर्क द्वारा आयोजित एक चर्चा में कही. सोनी नेटवर्क इस दौरे का भारत में प्रसारणकर्ता है. टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी इस खबर के मुताबिक, विराट की गैर-मौजूदगी से अजिंक्य रहाणे को भी एक सुरक्षा का अहसास होगा, जो उनके प्रदर्शन को निखारने में मददगार होगा.

71 वर्षीय इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा, ‘यह रहाणे और पुजारा के लिए मुश्किल भरा होगा. इन दोनों खिलाड़ियों को पूरी जिम्मेदारी से बल्लेबाजी करनी होगी. कप्तानी सही मायने में रहाणे के लिए मददगार साबित होगी. वह इस स्थिति में खुद को बेहद सुरक्षित और नियंत्रित महसूस करेंगे.’

टेस्ट सीरीज में रहाणे के अलावा कोई और कप्तानी (रोहित शर्मा) बने. इस पर गावस्कर ने कहा, ‘सेलेक्शन कमेटी ने पहले ही साफ कर दिया है कि विराट की गैर-मौजूदगी में कप्तान कौन होगा और उन्होंने बतौर टेस्ट कप्तान पहले भी बेहतर किया है.’