MS Dhoni is a magician behind the stumps, says Indian fielding coach R Sridhar
महेंद्र सिंह धोनी (Getty Images)

मौजूदा समय में सीमित ओवर फॉर्मेट के सबसे बेहतरीन विकेटकीपर बल्लेबाजों में से एक महेंद्र सिंह धोनी को टीम इंडिया के फील्डिंग कोच आर श्रीधर ने जादूगर बताया है। श्रीधर ने कहा, “विकेट के पीछे धोनी जादूगर हैं। जब भी वो विकेट के पीछे होते हैं वो लगातार नई करामातें दिखाते हैं।”

37 साल के हो चुके धोनी की विकेटकीपिंग का तरीका परंपरागत तकनीकि से अलग है लेकिन वो उनके लिए सर्वश्रेष्ठ काम करती है क्योंकि धोनी के पास अपार अनुभव है। श्रीधर ने कहा कि धोनी के दिमाग में जितना डाटा है और वो जिस तरह से उसे इस्तेमाल करते है उतना तेज प्रोसेसर तो स्टीव जॉब्स भी नही बना सकते है। बता दें कि जॉब्श मशहूर एप्पल कंपनी के सह संस्थापक थे। उनका निधन साल 2011 में हो गया था।

डीएनए को दिए इंटरव्यू में श्रीधर ने धोनी के बारे में कहा, “मैं केवल दो बातें कहूंगा: विकेटकीपिंग की उसकी बेसिक समझ अच्छी है और खेल को लेकर उसकी समझ अलग ही स्तर पर है। उसके दिमाग के अंदर इतना सारा डाटा है और उसमें दुनिया का सबसे तेज प्रोसेसर लगा है। स्टीव जॉब्स भी इतना तेज प्रोसेसर नहीं बना सकते थे।”

आईसीसी विश्व कप 2019: भारत समेत बाकी टीमों के वनडे स्क्वाड

श्रीधर से जब पूछा गया कि लीग से अलग तकनीकि के बावजूद धोनी इतने सफल विकेटकीपर कैसे हैं तो उन्होंने कहा, “ऐसा इसलिए है क्योंकि ये तकनीकि उसके अंदर पूरी तरह घुली हुई है। क्योंकि उसके बेसिक्स इतने ज्यादा मजबूत हैं कि वो इसे जिस तरह से चाहता है उसे सुधार सकता है।”

धोनी को लेकर ये बात मशहूर है कि वो नेट्स में विकेटकीपिंग का अभ्यास नहीं करते हैं। इस पर कोच ने आगे कहा, “देखिए ईमानदारी से कहूं तो, मैंने जितना उसे सिखाया है उससे कहीं ज्यादा उससे सीखा है। जाहिर है हम विकेटकीपिंग की बात करतें और एक दूसरे के विचार आदान प्रदान करते हैं। अगर वो चाहता है तो ड्रिल्स करता है, मैं हमेशा उसकी मदद को तैयार रहता हूं लेकिन मान लीजिए, हम सभी उसके सामने नश्वर इंसान हैं।”