© Getty Images
© Getty Images

टीम इंडिया के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा भले ही वनडे टीम से बाहर चल रहे हों लेकिन उनकी वापसी की कोशिश जारी है। रणजी ट्रॉफी के दूसरे राउंड के मुकाबले में रवींद्र जडेजा ने अपने बल्ले से करार प्रहार करते हुए शानदार दोहरा शतक जड़ दिया। जडेजा ने सौराष्ट्र के लिए खेलते हुए जम्मू कश्मीर के खिलाफ अपना दोहरा शतक पूरा किया। जडेजा ने 23 चौके और दो छक्के जड़कर 201 रनों की पारी खेली। जडेजा ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक नाबाद 150 रन बनाए थे और आज दूसरे दिन उन्होंने आसानी से 50 रन और जोड़कर अपना दोहरा शतक पूरा किया।

आपको बता दें जडेजा ने अपनी पिछली 3 फर्स्ट क्लास सेंचुरी को तिहरे शतक में बदला था। पिछले तीन मुकाबलों में जब भी जडेजा के बल्ले से शतक निकला वो तिहरे शतक में तब्दील हुआ था। लेकिन इस मुकाबले में जडेजा 201 रन बनाकर पैवेलियन लौट गए। वैसे जडेजा ने अपनी इस पारी के दौरान एक बड़ा मुकाम भी हासिल किया है। जडेजा जब 125 रन पर थे तो उनके रणजी ट्रॉफी में 3000 रन पूरे हो गए। जडेजा रणजी ट्रॉफी में 150 से ज्यादा विकेट भी झटक चुके हैं। जडेजा रणजी ट्रॉफी में 3000 रन और 150 से ज्यादा विकेट पूरे करने वाले दूसरे सबसे तेज खिलाड़ी हैं। के एल राहुल को टीम इंडिया से बाहर करना सही फैसला, जानिए क्यों?

सबसे तेज 3000 रन और 150 विकेट लेने का रिकॉर्ड विजय हजारे के नाम है। दुनिया के नंबर 2 टेस्ट गेंदबाज जडेजा पिछली 3 वनडे सीरीज से टीम इंडिया का हिस्सा नहीं हैं। श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया और अब न्यूजीलैंड के खिलाफ भी उन्हें टीम में जगह नहीं दी गई। हालांकि वो सेलेक्टर्स को उनकी गलती का एहसास कराने में जुटे हुए हैं।