Saurashtra Cricket Association says it can’t implement BCCI CoA latest directive
BCCI Headquarter (File Photo) © Getty Images

सौराष्ट्र क्रिकेट संघ (एससीए) ने चुनाव अधिकारी वारेश सिन्हा को एक पत्र लिख पर साफ तौर पर कह दिया है कि वह प्रशासकों की समिति (सीओए) द्वारा सोमवार को भेजे गए निर्देशों का पालन नहीं कर सकते।

एससीए के संयुक्त सचिव मधुकर वोराह ने अपने पत्र में कहा है कि सीओए के पुराने आदेश के मुताबिक संघ में चुनाव प्रक्रिया 11 सितम्बर से शुरू हो चुकी है और वह सीओए द्वारा सोमवार को भेजे गए आदेश का पालन नहीं कर सकते।

पढ़ें:- विराट की तूफानी पारी के सामने अफ्रीकी टीम ने टेके घुटने, 7 विकेट से जीता भारत

पत्र में लिखा गया है, “11 सितम्बर को सीओए द्वारा भेजे गए नोटिस के मुताबिक हमने हमारी चुनाव प्रक्रिया शुरू कर दी है और यह नोटिस भी 27 अगस्त और छह सितम्बर के आदेश के आधार पर था। इसलिए हमारे लिए मुमकिन नहीं हो पाएगा कि हम सीओए के 16 सितम्बर के आदेश को लागू कर पाएं। हम अपनी चुनावी प्रक्रिया 11 सितम्बर के आदेश के मुताबिक ही करेंगे।”

एससीए के इस बात से इत्तेफाक रखते हुए पश्चिम के ही एक अन्य संघ के अधिकारी ने कहा कि सोमवार को जो आदेश जारी किए हैं, उनकी कतई कोई जरूरत नहीं है और वे सर्वोच्च अदालत के आदेश के खिलाफ हैं।

उन्होंने कहा, “16 सितम्बर को जो नोटिस जारी किया गया उसके मुताबिक क्लब/विश्वविद्यालय/जिला संघ और सहयोगी संगठन ऐसे शख्स को संघ की चुनावी प्रक्रिया में हिस्सा लेने के लिए नामित नहीं कर सकते जो अधिकारी बनने के अयोग्य हो।”

पढ़ें:- सौरव गांगुली बोले- भारतीय टीम को टी20 विश्‍व कप से आगे के बारे में सोचना होगा

अधिकारी ने कहा, “सीओए ने कहा हैै कि जो नोटिस उन्‍होंने जारी किया है वो उसने बीसीसीआई के नियम सात के मुताबिक चुनाव अधिकारी से सलाह के बाद किया जबकि यह साफ है कि उस तरह की स्थिति की सिफारिश लोढ़ा समिति ने नहीं की थी और न ही इस बात का जिक्र सर्वोच्च अदालत के किसी भी आदेश में है।”