सोमवार को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में तमिलनाडू सीएम जयललिता ने ली आखिरी सांस। ©PTI
सोमवार को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में तमिलनाडू सीएम जयललिता ने ली आखिरी सांस। ©PTI

तमिलनाडू की मुख्यमंत्री जयललिता का देहांत सोमवार को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में हुआ। जयललिता तमिलनाडू की सीएम ही नहीं बल्कि सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली नेता थी। तमिलनाडू का बच्चा-बच्चा उन्हें पसंद करता था और सभी प्यार से उन्हें ‘अम्मा’ कहकर बुलाते थे। सोमवार को अस्पताल से उनके स्वर्गवास की खबर आई तो पूरे तमिलनाडू में हाहाकार मच गया। हार्ट अटैक आने के बाद वह 75 दिनों से अस्पताल में भर्ती थी और पिछले 24 घंटों से उनकी हालात काफी बिगड़ गई थी जिसके बाद यह खबर बाहर आई। 68 की जयललिता ने रात 11:30 पर अपनी आखिरी सांस ली। राजनीति में आने से पहले अभिनेत्री रही जयललिता का क्रिकेट के मैदान से भी एक खास कनेक्शन रहा है। ये भी पढ़ें: भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में इंग्लैंड के स्पिन सलाहकार बनें सकलैन मुश्ताक

जयललिता भारत के पूर्व टेस्ट कप्तान नवाब मंसूर अली खान पटौदी की बहुत बड़ी फैन थी। वह कई बार स्टेडियम में जाकर उन्हें खेलते देखती थीं। उन्होंने खुद अपने एक साक्षात्कार में कबूला था कि वह दूरबीन लेकर स्टेडियम जाती थीं ताकि नवाब पटौदी को करीब से देख सकें। टाइगर नाम से पुकारे जाने वाले पटौदी अपने समय के सबसे बेहतरीन और खूबसूरत क्रिकेटर्स में से थे। बाद में उन्होंने बॉलीवुड अभिनेत्री शर्मिला टेगौर से शादी कर ली। पटौदी के अलावा पूर्व कप्तान नॉरी कांट्रेक्टर को भी वह पंसद करती थी। साथ ही वह हॉलीवुड अभिनेता रॉक हडसन की तस्वीरें इकट्ठा किया करती थी। हडसन एक बेहतरीन अमेरिकन अभिनेता थे जिनकी मौत 1985 में 60 वर्ष की उम्र में हो गई थी। जयललिता ने तमिल, तेलुगू, कन्नड़ और मलयालम फिल्मों में काम किया था लेकिन शम्मी कपूर अभिनीत जंगली उनकी पसंदीदा फिल्म थी। ये भी पढ़ें: टल सकता है चेन्नई टेस्ट, बीसीसीआई ने अब तक नहीं किया है कोई फैसला

जयललिता मौजूदा समय की सबसे प्रभावशाली महिला नेताओं मे से थी। 28 फरवरी, 1948 को जन्मी जयललिता ने एक अभिनेत्री, गायक और फिर राजनेता बनने तक के सफर में बहुत कुछ देखा था। वह खूबसूरती और बुद्धिमता का एक लाजवाब मिश्रण थी। उनके देहांत के साथ तमिल राजनीति का एक अध्याय खत्म हो गया।