केन विलियमसन के लिए साल 2015 बेहतरीन साल रहा, वह वनडे के सफलतम बल्लेबाज रहे© Getty Images
केन विलियमसन के लिए साल 2015 बेहतरीन साल रहा, वह वनडे के सफलतम बल्लेबाज रहे© Getty Images

साल 2015 वनडे क्रिकेट के लिहाज से बेहतरीन साल रहा। मार्च-अप्रैल 2015 में क्रिकेट विश्व कप के आयोजन के साथ ही खिलाड़ियों के बीच क्रिकेट मैदान में खूब गहमा-गहमी देखने को मिली। गेंद और बल्ले के बीच इस जंग में कई बल्लेबाजों ने बेहतरीन बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया। लेकिन इन बल्लेबाजों में से किन 5 ने साल 2015 में वनडे क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ी। चूंकि साल 2015 अपने अंतिम पड़ाव पर है इसीलिए हम आपके साथ साझा करने जा रहे हैं साल के 5 बेहतरीन बल्लेबाजों के नाम। इन बल्लेबाजों के नाम बल्लेबाज के औसत, स्ट्राइक रेट व रनों को ध्यान में रखकर सूची में शामिल किए गए हैं।

1. केन विलियमसन: विश्व क्रिकेट में बहुत कम लोग न्यूजीलैंड के इस प्रतिभाशाली बल्लेबाज को जानते हैं। साल 2015 विलियमसन के लिए बेहतरीन साल रहा। इस साल वनडे व टेस्ट मैच में रन बनाने के मामले में विलियमसन विश्व के सफलतम बल्लेबाज रहे। साल 2015 में बेहतरीन शुरुआत के बाद विलियमसन विश्व कप 2015 में कुछ दिनों के लिए ढीले पड़ गए थे, लेकिन विश्व कप के थोड़े दिनों बाद उन्होंने फिर से फॉर्म में वापसी करते हुए बेहतरीन क्रिकेट खेली। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में रनों का अंबार लगा दिया था। विलियमसन साल 2015 के वनडे क्रिकेट में टॉप स्कोरर रहे उन्होंने 57 के बेहतरीन औसत के साथ 1317 रन बनाए।

2. कुमार संगकारा: श्रीलंका के क्रिकेट किवदंती कुमार संगकारा ने इस साल शीर्ष फॉर्म दिखाई। संगकारा ने आईसीसी विश्व कप 2015 के बाद अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। लेकिन इसके पहले वरिष्ठ क्रिकेटर ने बेहतरीन बल्लेबाजी की। इनमें सबसे बड़ी बात रही विश्व कप 2015 में लगातार चार शतक लगाने के कारनामें की। यह एक विश्व रिकॉर्ड है। यह विश्व कप क्रिकेट में ही रिकॉर्ड नहीं है बल्कि वनडे क्रिकेट में भी संगकारा इस रिकॉर्ड को हासिल करने वाले इकलौते बल्लेबाज हैं। इस साल खेले मात्र 14 मैचों में संगकारा ने अपने नाम पांच शतक किए। संगकारा ने इस साल 86.20 के भारी भरकम औसत से 862 रन बनाए। साथ ही संगकारा का स्ट्राइक भी इस दौरान 100 के ऊपर रहा। आप इसी बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि संगकारा को श्रीलंका क्रिकेट की किवदंती क्यों कहा जाता है।

3. एबी डीविलियर्स: दक्षिण अफ्रीका वनडे टीम के कप्तान एबी डीविलियर्स यह भली भांति जानते हैं कि टीम को जीत की दहलीज पर कैसे पहुंचाया जाता है। डीविलियर्स के लिए साल 2015 बेहतरीन रहा। डीविलियर्स ने इस साल लगभग 80 के औसत से 1193 रन बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 137.91 का रहा। इस साल जिस तरह की उन्होंने बल्लेबाजी की उसने उन्हें विश्व भर का मुरीद बना दिया। उनकी करिश्माई बल्लेबाजी के विश्व भर में इतने चर्चे हैं कि उनके चाहने वालों ने उन्हें सुपर मैन व मि. 360 का नाम भी दे दिया है। हाल ही में भारत के खिलाफ संपन्न हुई वनडे सीरीज में वह सर्वोच्च स्कोरर रहे और अपनी टीम की भारत पर 3-2 की जीत में वह सबसे ज्यादा चमके। इस साल उन्होंने विश्व क्रिकेट का सबसे कम गेंदो(31) में शतक व सबसे कम गेंदों में 150 रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया।

4. सौम्य सरकार: बांग्लादेश के युवा बल्लेबाज सौम्य सरकार ने अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी से पूरे विश्व को अपना मुरीद ही नहीं बनाया बल्कि संदेश भी दे दिया कि बांग्लादेश अब छोटी टीम कतई नहीं है। सरकार ने इस साल खेले 15 मैचों में 51.69 के बेहतरीन औसत से 672 रन बनाए। हालांकि विश्व कप 2015 उनके लिए कुछ खास नहीं रहा, लेकिन उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ बेहतरीन अर्धशतक बनाकर अपने इरादे वहां भी जाहिर कर दिए थे। विश्व कप 2015 के बाद पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई सीरीज में सरकार ने शानदार 127 रनों की पारी खेली थी। वहीं भारत के खिलाफ द्विपक्षीय श्रृंखला में भी सरकार खूब चमके थे। बांग्लादेश ने इस साल तीन बड़ी टीमों भारत-पाकिस्तान-दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज जीती। इन तीनों सीरीज जीतों में सरकार ने महत्वपपूर्ण भूमिका निभाई।

5. तिलकरत्ने दिलशान: तिलकरत्ने दिलशान दूसरे श्रीलंकाई बल्लेबाज रहे जिन्होंने इस साल वनडे क्रिकेट में धुआंधार बल्लेबाजी की। दो बड़े खिलाड़ियों महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा के विदा होने के बाद दिलशान इकलौते टीम के पुराने खंबे बचे हैं। दिलशान ने टीम में अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभायाहै। उन्होंने इस दौरान अपने टीम के नए खिलाड़ियों को अपने अनुभव से मार्गदर्शित ही नहीं किया बल्कि उदाहरण भी पेश किया कैसे टीम को जीत दिलाई जाती है। इस साल दिलशान ने 55 के औसत से 1100 रन बनाए। विश्व कप 2015 में दिलशान ने 7 मैचों में और बेहतर औसत के साथ 395 रन बनाए थे।