गुजरात लायंस बनाम मुंबई इंडियंस © Getty Images
गुजरात लायंस बनाम मुंबई इंडियंस © Getty Images

29 अप्रैल को आईपीएल 2017 के 35वें मैच में गुजरात लायंस और मुंबई इंडियंस की टीमें आमने- सामने होंगी। मुंबई इंडियंस जहां 8 मैचों में 6 जीत हासिल कर चुकी है और 12 अंकों के साथ प्वाइंट टेबल में दूसरे नंबर पर बनी हुई है। वहीं गुजरात लायंस 8 मैचों में 6 अंकों के साथ पांचवें नंबर पर है। इस सीजन में इन दोनों टीमों के बीच हुई पहली भिड़ंत में मुंबई इंडियंस ने बाजी मारी थी जब उन्होंने वानखेड़े के मैदान पर नितीश राणा के 36 गेंदों में 53 रनों की मदद से लायंस के 176 रनों के लक्ष्य का आसानी से पीछा करते हुए छह विकेट से मैच जीत लिया था। जाहिर है कि इस बार जब मुंबई इंडियंस उतरेगी तो उसका लक्ष्य उसी कारनामें को दोहराने का होगा। वहीं गुजरात लायंस का लक्ष्य मुंबई इंडियंस को हर हाल में हराते हुए प्ले ऑफ में अपने पहुंचने के मौकों को बढ़ाना होगा। गौर करने वाली बात है कि लायंस ने साल 2016 आईपीएल में मुंबई इंडियंस के खिलाफ दोनों मैच जीते थे। जाहिर है इस बात का मनोवैज्ञानिक लाभ वे जरूर लेना चाहेंगे।

गुजरात लायंस: गुजरात लायंस ने पिछले दो मैचों में केकेआर को चार विकेट से तो आरसीबी को 7 विकेट से मात दी है और आनन- फानन में अपनी स्थिति प्वाइंट टेबल में मजबूत की है। शुरुआती मैचों में जब उनकी गेंदबाजी पर सवाल खड़े हो रहे थे अब उसमें क्रांतिकारी सुधार देखने को मिला है। जिस तरह की गेंदबाजी उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ की उससे उन्होंने ये साबित कर दिया कि वे टूर्नामेंट के किसी भी बल्लेबाजी क्रम को चुनौती दे सकते हैं। एंड्रयू टाय लायंस की गेंदबाजी के तारणहार के रूप में उभरे हैं। वहीं, जडेजा, बासिल थांपी, और जेम्स फॉकनर ने उनका अच्छा साथ निभाया है। लेकिन मुंबई इंडियंस के खिलाफ उनके गेंदबाजों को बदली हुई रणनीति के साथ उतरना होगा क्योंकि उनके बल्लेबाज फॉर्म में हैं। बल्लेबाजी की बात करें तो एरन फिंच अब बढ़- चढ़कर अपना योगदार दे रहे हैं और उसकी वजह से परिवर्तन भी देने को मिल रहा है। ड्वेन स्मिथ की जगह जेम्स फॉकनर को टीम में शामिल करने से गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों को गहराई मिली है और साफतौर पर इससे टीम को फायदा मिला है। चूंकि, पिछले मैच में लायंस ने जीत हासिल की थी ऐसे में शायद ही वे अपनी अंतिम एकादश में कोई बदलाव करना चाहें।

गुजरात लायंस की संभावित प्लेइंग इलेवन: ईशान किशन, ब्रैंडन मैक्कलम, सुरेश रैना(कप्तान), एरन फिंच, दिनेश कार्तिक(विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, जेम्स फॉकनर, एंड्रयू टाय, बासिल थांपी, नत्थू सिंह, अंकित सोनी।

मुंबई इंडियंस: प्वाइंट टेबल में नंबर दो मुंबई इंडियंस लगातार पहले नंबर पर बने रहने का प्रयास कर रही है। जाहिर है कि अगर उसे फिर से नंबर 1 के लिए दावा पेश करना है तो इस मैच में जीत दर्ज करनी ही होगी। टूर्नामेंट में अबतक देखें तो रोहित शर्मा के खराब फॉर्म में रहने के बावजूद हर मैच में भिन्न- भिन्न बल्लेबाजों ने टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई है। वहीं दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ मैच में जब उनकी टीम ने 142 रनों के स्कोर को बचा लिया तो एक बात गेंदबाजों ने साबित कर दी कि वे उनकी टीम में सपोर्टिंग रोल नहीं बल्कि अहम भूमिका निभा रहे हैं।

जैसा कि हरभजन सिंह, क्रुणाल पांड्या और जसप्रीत बुमराह तो बढ़िया प्रदर्शन कर ही रहे हैं। वहीं मिचेल जॉनसन टीम को मलिंगा की कमी महसूस नहीं होने दे रहे। मुंबई इंडियंस के लिए सबसे अच्छी खबर ये है कि ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या चोट से उबर चुके हैं। लेकिन मैच के पहले उनका फिटनेस टेस्ट होगा। वहीं, अंबाती रायडू ने इस हफ्ते के दौरान ट्विटर पर ट्वीट किया था कि वह चोट से उबर चुके हैं और वापसी के लिए तैयार हैं।

मुंबई इंडियंस की संभावित प्लेइंग इलेवन: पार्थिव पटेल(विकेटकीपर), जोस बटलर, नितीश राणा, रोहित शर्मा(कप्तान), कयरॉन पोलार्ड, क्रुणाल पांड्या, हार्दिक पांड्या, हरभजन सिंह, मिचेल मैकलेनिघन, मिचेल जॉनसन, जसप्रीत बुमराह।

क्या कहते हैं आंकड़े: इन दोनों टीमों के बीच कुल तीन मैच हुए हैं जिनमें से दो गुजरात लायंस ने तो एक मुंबई इंडियंस ने जीता है।