कई बल्लेबाजों का दिल दहलाने के बाद ब्रेट ली अब मनोरंजन की दुनिया में किस्मत आजमा रहे हैं © Bollywoodlife.com
कई बल्लेबाजों का दिल दहलाने के बाद ब्रेट ली अब मनोरंजन की दुनिया में किस्मत आजमा रहे हैं © Bollywoodlife.com

क्रिकेट के मैदान पर एक खिलाड़ी सिर्फ क्रिकेटर होता है, क्रिकेट ही उसके लिए सबकुछ होता है। लेकिन क्रिकेट को अपना करियर बनाने के बाद जब वो क्रिकेट से रिटायर होता तब खिलाड़ी के पास बहुत कुछ विकल्प नहीं होता। ज्यादातर क्रिकेटर क्रिकेट से ही जुड़ा कोई प्रोफेशन जैसे अंपायरिंग, कमेंट्री, क्रिकेट कोचिंग आदि चुन लेते है और क्रिकेट के बाद भी क्रिकेट से जुड़े रहते है। जबकि कुछ क्रिकेटरों ने रिटायरमेंट के बाद अपने दूसरे शौक को बढ़ावा देते हुए अपने शौक को अपना प्रोफेशन बनाया, तो कुछ क्रिकेटरों को मजबूरी के कारण ऐसे काम करने पड़े जिनकी उन्होने कल्पना भी नहीं की होगी। आइए जानते है ऐसे कुछ खिलाड़ियों के बारे में जिन्होने क्रिकेट से रिटायरमेंट के बाद बिल्कुल अलग प्रोफेशन चुना।

5.इमरान खान (पॉलिटिशियन)

इमरान खान की कप्तानी में पाकिस्तान ने 1992 विश्व कप जीता था ©Getty Images
इमरान खान की कप्तानी में पाकिस्तान ने 1992 विश्व कप जीता था ©Getty Images

क्रिकेट के महानतम ऑलराउंडरों की शुमार में शामिल पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इमरान खान ने क्रिकेट से रिटायरमेंट के बाद एक राजनेता के रूप में अपना करियर शुरू किया। 1996 में इमरान खान ने पाकिस्तान में ‘तहरीक-ए-इंसाफ’ नाम की पार्टी की स्थापना की। अपनी कप्तानी में पाकिस्तान को 1992 विश्व कप दिलाने वाले इमरान की एक राजनेता की छवि पुरी दुनिया के सामने उभर कर आई। 2012 में ग्लोबल पोस्ट ने इमरान खान को दुनिया के टॉप 9 लीडर की लिस्ट में तीसरा स्थान दिया। लगभग दो दशक के अपने क्रिकेट करियर के बाद इमरान खान को दुनिया अब एक राजनेता के रूप में जानती है। ALSO READ: 2015 का अनकहा सितारा: केन विलियमसन

4.डैरेन गॉफ (डांसर):

डैरेन गॉफ ने 2005 में ‘स्ट्रीक्टली कम डांसिग’ जीतकर एक डांसर के रूप में पहचान बनाई © Getty Images
डैरेन गॉफ ने 2005 में ‘स्ट्रीक्टली कम डांसिग’ जीतकर एक डांसर के रूप में पहचान बनाई © Getty Images

अपनी स्कीडी यार्कर के लिए मशहूर इंग्लैंड के तेज गेंदबाज डैरेन गॉफ ने क्रिकेट के बाद एक डांसर के रूप में अपनी पहचान बनाई। अपने लगभग डेढ़ दशक के करियर में इंग्लैंड के लिए 229 टेस्ट विकेट और 235 वनडे विकेट लेने इस गेंदबाज ने 2005 में ‘स्ट्रीक्टली कम डांसिग’ का तीसरा सीजन जीतकर एक डांसर के रूप में अपनी पहचान बनाई। इंग्लैंड क्रिकेट के उनके साथी क्रिकेटर फ्लिन्टाफ ने गॉफ की तारीफ करते हुए कहा था कि मूझे नहीं पता था कि डारेन पैरों का इतना बेहतरीन इस्तेमाल करते है मैं तो हमेशा उनको अच्छी गेंदबाजी के लिए उत्साहित करता था।

3.ब्रेट ली (एक्टर-सिंगर):

गेंदबाज की भूमिका निभाने के बाद अब ब्रेट ली एक्टिंग में हाथ आजमा रहे हैं © Bollywoodlife.com
गेंदबाज की भूमिका निभाने के बाद अब ब्रेट ली एक अदाकार की भूमिका निभा रहे हैं © Bollywoodlife.com

क्रिकेट की दुनिया में रफ्तार के इस सौदागर को शुरू से ही गाने और एक्टिंग का शौक था। क्रिकेट के मैदान में अपने सेलीब्रेशन के लिए मशहूर ब्रेट ली ने क्रिकेट के बाद गिटार और एक्टिंग को अपना साथी बनाया। ब्रेट ली आजकल पूर्व मिस ऑस्ट्रेलिया जस्टिना कैंपबेल के साथ ‘गेटवे’ नामक ट्रेवल शो को होस्ट करते है। एक चार्मिंग स्माइल के मालिक ब्रेट ली जल्द ही बॉलीवुड की फिल्म ‘अनइंडियन’ में एक्टिंग करते दिखाई दिये। ली अपने भाई शेन ली के रॉक बैंड ‘सिक्स एंड आउट’ के गिटारिस्ट भी है इसके अलावा ब्रेट ली एक चैरिटी फाउंडेशन भी चलाते है। ब्रेट ली ऑस्ट्रेलिया के लिए क्रिकेट खेलते हुए टेस्ट में 310 विकेट और वनडे में 380 विकेट चटकाए। ALSO READ: साउथ अफ्रीका बनाम इंग्लैंड टेस्ट का फुल स्कोरबोर्ड

2.एंड्रयू फ्लिन्टॉफ (प्रो- बॉक्सिंग):

बाउंसर के बाद अब रिंग में मुक्के बरसा रहे हैं फ्लिंटॉफ © Getty Images
बाउंसर के बाद अब रिंग में मुक्के बरसा रहे हैं फ्लिंटॉफ © Getty Images

इयान बॉथम के बाद इंग्लैंड के सर्वश्रेष्ठ के ऑलराउंडर एंड्रयू फ्लिन्टॉफ ने क्रिकेट से संन्यास के बाद प्रोफेशनल बॉक्सिंग में अपना हाथ आजमाया। अपनी आक्रामक बल्लेबाजी और बाउंसर के लिए क्रिकेट गलियारों में चर्चित रहे फ्लिन्टॉफ ने 30 नवंबर 2012 को अपने प्रो- बॉक्सिंग का पहला मैच खेला, मैनचेस्टर में हुए इस मुकाबले में फ्लिन्टॉफ ने बाउंसर की बजाय मुक्कों का प्रहार करते हुए अमेरिका के रिचर्ड डाउसन को प्वाइंट के आधार पर हराकर अपना पहला मैच जीता। 1 फरवरी 2015 में एंड्रयू फ्लिन्टॉफ ने ऑस्ट्रेलियाई टीवी रियालिटी शो ‘आई एम सेलीब्रिटी…………गेट मी आउट ऑफ हियर’ में हिस्सा लिया और 15 मार्च 2015 को शो के विजेता के रूप में बाहर आए। फ्लिन्टॉफ ने इंग्लैंड के लिए 79 टेस्ट में 3845 रन बनाने के अलावा 226 विकेट भी लिए। फ्लिन्टॉफ ने 2005 में इंग्लैंड की एशेज जीत में अहम भूमिका अदा की थी। ALSO READ: आईसीसी ने यासिर शाह पर लगाया प्रतिबंध

1.क्रिस क्रेन्स (ट्रक ड्राइवर):

अदालत के फैसले के बाद क्रेन्स को आर्थिक स्थिति सुधरने की उम्मीद है © Getty Images
अदालत के फैसले के बाद क्रेन्स को आर्थिक स्थिति सुधरने की उम्मीद है © Getty Images

क्रिकेट की सबसे ट्रैजिक घटनाओं में से एक है। अपने समय में दुनिया के बेस्ट ऑलराउंडर रहे क्रिस क्रेन्स आजकल न्यूजीलैंड में आपको ट्रक चलाते हुए दिखेंगे। जाहिर सी बात है कि उन्होने इस पेशे को मर्जी से नहीं चुना होगा। क्रिकेट से संन्यास लेते ही क्रेन्स को तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ा क्रेन्स पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगाए गए। अपने समय में गेंद और बल्ले दोनो ने मैच जीताने वाले इस खिलाड़ी को बैंक ने दिवालिया घोषित कर दिया। क्रेन्स ने मजबूरी में बसो की छत साफ करने से लेकर ट्रक चलाने का पेशा अपना लिया। लेकिन क्रेन्स के लिए अच्छी खबर ये है कि अदालत ने उन पर लगे फिंक्सिंग सम्बंधी आरोपों को गलत ठहराते हुए उनको मुक्त कर दिया। अब क्रेन्स को उम्मीद है कि उनकी आर्थिक स्थिति संभल जाएगी। क्रेन्स ने न्यूजीलैंड के लिए 62 टेस्ट में 3320 रन बनाने के अलावा 218 विकेट और 215 वनडे मैचों में 4950 रन बनाने के अलावा 201 विकेट भी लिए। क्रेन्स ने नैरोबी में खेले गए आईसीसी नॉक आउट ट्राफी 2000 के फाइनल में भारत के खिलाफ शानदार शतक लगाकर न्यूजीलैंड को शानदार जीत दिलाई थी। ALSO READ: अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में 1000 शतक बनाने वाला पहला देश बना ऑस्ट्रेलिया