India vs Australia ODI Series: भारतीय क्रिकेट टीम का ऑस्ट्रेलिया (IND vs AUS 2020) दौरे पर हार का सिलसिला जारी है. तीन मैचों की सीरीज के शुरुआती दो वनडे हारने के बाद टीम इंडिया पर क्लीनस्वीप का खतरा मंडरा रहा है. ऑस्ट्रेलिया ने पहले वनडे में भारत को 66 जबकि दूसरे मैच में 51 रन से पराजित कर सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है.

आइए जानते हैं दूसरे वनडे में कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) से कहां हुई 3 चूक?

इंजुरी और खराब प्रदर्शन के बावजूद नवदीप सैनी पर भरोसा करना

पेसर नवदीप सैनी (Navdep Saini) का सीरीज के पहले वनडे में बेहद खराब प्रदर्शन रहा. सैनी ने 80 से ज्यादा रन लुटाए. खराब प्रदर्शन के बावजूद कोहली ने शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) की बजाय दूसरे वनडे में भी सैनी को मौका दिया. सैनी ने सिडनी में खेले गए दूसरे वनडे में 7 ओवर में 70 रन दिए.

इस तेज गेंदबाज ने एक नो बॉल जबकि कई वाइड गेंदें भी फेंकी. सैनी ने आखिरी ओवर  में 15 रन दिए जिसमें दो छक्के शामिल थे. उन्होंने पहले वनडे से पहले पीठ में कुछ दर्द की शिकायत की थी बावजूद इसके वह दोनों वनडे खेले.

हार्दिक पांड्या से अधिक ओवर नहीं कराना

भारतीय टीम को छठे बॉलर की कमी खल रही है. दूसरे वनडे में कोहली ने हार्दिक पांडया (Hardik Pandya) से गेंदबाजी कराकर सबकों हैरान कर दिया. उन्होंने सिडनी में खेले दूसरे वनडे में मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) से भी गेंदबाजी कराई. हार्दिक से 36वें ओवर में गेंदबाजी कराई गई और उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया. चार ओवर में हार्दिक ने स्टीव स्मिथ के रूप में  एक विकेट भी निकाला.

गेंदबाजी में बहुत फेरबदल किए

जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है. स्पिनर युजवेंद्र चहल भी कारगर नहीं रहे. चहल ने 9 ओवर में 71 रन लुटाए. कोहली का गेंदबाजों को जल्दी जल्दी चेंज करना भी उनके खराब प्रदर्शन की वजह हो सकता है. 30वें से 35वें ओवर तक किसी एक गेंदबाज ने 2 से अधिक ओवर नहीं फेंके.