India vs Australia: 5 player who could make it in test squad for Border-Gavaskar Trophy 2020
विल पोकोवस्की, मार्कस हैरिस (Twitter/CA)

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद भारतीय क्रिकेट टीम अपने पहली अंतरराष्ट्रीय टेस्ट सीरीज खेलेगी। दिसंबर में होने वाली इस बॉर्डर-गावस्कर सीरीज के लिए बीसीसीआई ने भारतीय टेस्ट स्क्वाड का ऐलान कर दिया है लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भी टेस्ट फॉर्मेट के लिए स्क्वाड नहीं चुना है।

ऑस्ट्रेलिया टीम आखिरी बार जनवरी में टेस्ट जर्सी में नजर आई थी, जब कंगारू टीम ने तीन टेस्ट मैचों के लिए न्यूजीलैंड टीम के मेजबानी की थी। हालांकि टिम पेन की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने ये सीरीज 3-0 से जीती थी लेकिन भारत के खिलाफ सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड अपने टेस्ट स्क्वाड में बदलाव कर सकता है। कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो घरेलू क्रिकेट जो टेस्ट टीम में वापसी कर सकते हैं, वहीं कुछ युवा खिलाड़ियों को डेब्यू का मौका मिल सकता है। हम यहां उन्हीं खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे।

शॉन मार्श: न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट स्क्वाड का हिस्सा नहीं रहे सीनियर बल्लेबाज शॉन मार्श फिलहाल शेफील्ड शील्ड टूर्नामेंट में रनों की झड़ी लगा रहे हैं। मार्श ने तीन मैचों की पांच पारियों में 87.50 के औसत से 350 रन बनाए हैं। मार्श काफी समय से टीम में वापसी की कोशिश कर रहे हैं, ऐसे में उनका शील्ड प्रदर्शन इस लक्ष्य को हासिल करने में उनकी मदद करेगा।

RCB के लिए फिनिशर की भूमिका में फिट हो सकते हैं शिवम दुबे: गावस्कर

मार्कस हैरिस: विक्टोरिया के लिए दोहरा शतक जड़ एक बार फिर लाइम लाइट में आए सलामी बल्लेबाज मार्कस हैरिस भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में नजर आ सकते हैं। खासकर जब ऑस्ट्रेलिया टीम पारी की शुरुआत करने के लिए डेविड वार्नर के साथी बल्लेबाजी की तलाश कर रही हैं। हैरिस खराब फॉर्म में चल रहे जो बर्न्स की जगह ले सकते हैं।

विल पोकोवस्की: हैरिस के साथ 486 रन की रिकॉर्ड साझेदारी बनाने वाले विल पोकोवस्की भी ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के चयनकर्ताओं की नजर में होंगे। दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में 255 रनों की शानदार पारी खेलने वाले पुकोवस्की भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के लिए डेब्यू कर सकते हैं। हालांकि 22 साल के इस खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने के लिए कड़ी प्रतिद्वंद्विता का सामना करना पड़ सकता है।

जॉश हेजलवुड: ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम भारत के खिलाफ सीरीज में अपने चार प्रमुख तेज गेंदबाजों वाले अटैक के साथ उतरना चाहेगी, जिसके लिए जॉश हेजलवुड की टेस्ट टीम में वापसी जरूरी है। हालांकि हेजलवुड शेफील्ड शील्ड टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं हैं चूंकि वो हाल ही में इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां सीजन खेलकर यूएई से लौटे हैं। लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए जॉश लय में नजर आए थे। वैसे टी20 फॉर्मेट के आधार पर टेस्ट टीम में चयन करना हमेशा सही फैसला नहीं होता है लेकिन हेजलवुड का अनुभव उनके पक्ष को मजबूत कर सकता है।

सैम वाइटमैन: यॉर्कशायर के 28 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज सैम वाइटमैन भारत के खिलाफ सीरीज के लिए चुने गए ऑस्ट्रेलियाई स्क्वाड में सरप्राइज कॉल हो सकते हैं। वाइटमैन ने शेफील्ड शील्ड में खेले 3 मैचों की पांच पारियों में 63.80 की औसत से 319 रन बनाए हैं। वाइटमैन को बैकअप विकेटकीपर के तौर पर टेस्ट स्क्वाड का हिस्सा बना जा सकता है।