इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League 2020) के आगामी सीजन के लिए खिलाड़ियों की नीलामी में महज कुछ ही दिन बचे हैं. ऐसे में इस समय खिलाड़ी दुनिया में अलग-अलग लीग में बेहतरीन प्रदर्शन कर फ्रेंचाइजी की नजरों में खुद को लाना चाहते हैं.

वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज से बाहर हुए शिखर धवन, संजू सैमसन को मिला मौका

हाल में संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में अबु धाबी T10 लीग का तीसरा सीजन सफलतापूर्वक संपन्न हुआ. इस लिग में विश्व के कई इंटरनेशनल और कई घरेलू क्रिकेटरों ने हिस्सा लिया. कई खिलाड़ियों ने अपने शानदार प्रदर्शन से सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया.

आइए जानते हैं उन 5 खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने इस वर्ष T10 लीग में अपनी छाप छोड़ी और अगले महीने होने वाली  आईपीएल (IPL2020) के लिए खिलाड़ियों की नीलामी में उनकी अच्छी बोली लगने की उम्मीद है.

क्रिस लिन

विस्फोटक ओपनर क्रिस लिन (Chris Lynn) को आईपीएल फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) इस वर्ष टीम से रिलीज कर अफसोस जता रही होगी क्योंकि इस सलामी बल्लेबाज ने T10 लीग में बल्ले से जमकर रन बरसाए.

लिन ने मराठा अरेबियंस की ओर से खेलते हुए इस सीजन 8 मैचों में 371 रन बनाए जिसमें नाबाद 91 रन उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा. उन्होंने 236.30 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की. लिन टी10 लीग के मौजूदा सीजन में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे.

जिस तरह से लिन ने इस के लीग में बल्लेबाजी की उसे देखते हुए आईपीएल (IPL Auction) में उनकी बड़ी बोली लग सकती है.

रिली रोसो

दक्षिण अफ्रीका के 30 वर्षीय बल्लेबाज रिली रोसो का इंटरनेशनल करियर उम्मीद के मुताबिक सफल नहीं रहा लेकिन उनमें टैलेंट की भरमार है. इस समय भी रोसो वर्ल्ड के कई टी-20 लीग में जमकर रन बना रहे हैं. वनडे में शानदार रिकॉर्ड के बावजूद वह वनडे टीम में अपनी जगह पक्की नहीं कर सके.

रोसो को आईपीएल 2014 की नीलामी में पहली बार रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने अपने साथ जोड़ा. आरसीबी के साथ कई साल तक रहने के बावजूद रोसो स्टार खिलाड़ियों से सुसज्जित बैटिंग लाइनअप वाली टीम में अपनी नियमित जगह नहीं बना सके. उन्हें दो सीजन में केवल 5 आईपीएल मैच खेलने को मिले जिसमें उनके बल्ले से सिर्फ 53 रन ही निकले.

जिस दिन फिलिप ह्यूज के साथ वो हादसा हुआ, उस दिन खेल अप्रासंगिक हो गया था : स्टीव स्मिथ

T10 लीग में रोसो ने 189.91 के स्ट्राइक रेट से कुल 226 रन बनाए. बांग्ला टाइगर्स की ओर से खेलने वाले रोसो इस लीग में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर रहे. टी-10 लीग में धमाकेदार प्रदर्शन के बाद आईपीएल में उनकी बड़ी बोली लगने की उम्मीद है. टीम में वे टॉप या मिडिल ऑर्डर में खेल सकते हैं.

टॉम बैंटन

इंग्लैंड के 21 वर्षीय ओपनिंग विकेटकीपर बल्लेबाज टॉम बैंटन (Tom Bantom) को जोस बटलर का उत्तराधिकारी के रूप में देखा जा रहा है. दाएं हाथ के इस बल्लेबाज पर दुनिया की बेहतरीन टी-20 क्लबों की नजर है.

कलंदर्स की ओर से बैंटन अबुधाबी टी10 लीग में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते रहे. उन्होंने 200 के स्ट्राइक रेट से 5 मैचों में कुल 162 रन बनाए. इस दौरान उनका औसत 40 का रहा. आईपीएल के लिहाज से बैंटन एक कंपलीट पैकेज हैं.

कैस अहमद

अफगानिस्तान के 19 वर्षीय लेग स्पिनर कैस अहमद ने T10 लीग में बांग्ला टाइगर्स की ओर से खेला था. उन्होंने 7 मैचों में कुल 9 विकेट निकाले. उन्हें अफगानिस्तान की टी20 टीम में जल्द शामिल किए जाने की उम्मीद है.

अफगानिस्तान की टीम में वैसे ही वर्ल्ड क्लास लेग स्पिनर राशिद खान और मुजीब उर रहमान मौजूद हैं. ऐसे में कैस के आने से उसकी गेंदबाजी में विकल्प मिलेगा. प्रत्येक टी20 टीम ये चाहती है कि उसकी टीम में वर्ल्ड क्लास लेग स्पिनर हो जो बेशक रन ज्यादा खर्च कर दे लेकिन हमेशा उसे अहम विकेट दिलाता रहे.

आईपीएल की कई टीमों के पास अच्छे लेग स्पिनर नहीं हैं. ऐसे में आगामी आईपीएल नीलामी में कई टीमें कैस की सेवाएं लेना पसंद करेंगी.

इयोन मोर्गन

इंग्लैंड की लिमिटेड ओवर्स टीम के कप्तान इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) के बारे में हम सभी अच्छी तरह जानते हैं. मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड ने कुछ महीने पहले वनडे वर्ल्ड कप अपने नाम किया था. अपने देशवासियों के लिए वह महान खिलाड़ियों में गिने जाने लगे हैं.

आईपीएल करियर की बात करें तो वह अब तक अपनी प्रतिभा के साथ न्याय नहीं कर पाए हैं. मोर्गन ने आईपीएल में अब तक चार फ्रेंचाइजी के लिए खेला है जिनमें रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB), कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR), सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) और किंग्स इलेवन पंजाब शामिल हैं.

IPL 2020 के बाद भविष्य को लेकर फैसला करेंगे महेंद्र सिंह धोनी

उनका औसत 52 आईपीएल मैचों में सिर्फ 21 का रहा है. हालांकि मोर्गन ने हाल में संपन्न टी10 लीग में दिल्ली बुल्स की ओर से हिस्सा लिया था. दिल्ली टीम प्वाइंटस टेबल में सबसे निचले क्रम पर रही. बतौर कप्तान मोर्गन एकमात्र ऐसे खिलाड़ी रहे जो बुल्स की ओर से आखिरी समय तक लड़ते नजर आए. उन्होंने 43 की औसत से कुल 175 रन बनाए. आईपीएल फ्रेंचाइजी उन्हें मिडिल ऑर्डर बैटसमैन के रूप में अपने साथ जोड़ सकती हैं. मोर्गन एंकर की भूमिका निभा सकते हैं.