भारत आज टेस्‍ट क्रिकेट की सर्वोच्‍च टीमों में शुमार है तो इसका श्रेय काफी हद तक राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid), सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और विराट कोहली (Virat Kohli) जैसे क्रिकेटर्स को जाता है. द्रविड़ अपने समय में बेहतरीन टाइमिंग के लिए जाने जाते थे. लंबे समय तक क्रीज पर टिके रहने की काबिलियत के चलते ही राहुल द्रविड़ को ‘द वॉल’ के नाम से भी पुकारा जाता है.

आज द्रविड़, गांगुली और विराट कोहली के करियर से जुड़ा एक ऐसा संजोग है जिसके बारे में शायद ही किसी क्रिकेट प्रेमी को पता होगा. 20 जून 1996 यानी आज ही के दिन राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली ने एक साथ टेस्‍ट क्रिकेट में अपना डेब्‍यू किया था. जगह थी लंदन में लॉर्ड्स का मैदान.

संजय मांजरेकर और सुनील जोशी के स्‍थान पर दोनों को टेस्‍ट टीम में मौका दिया गया. इसके बाद इन दोनों ही क्रिकेटर्स ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और भारतीय क्रिकेट को नई ऊंचाईयों तक पहुंचाया.

अपने डेब्‍यू मैच में ही सौरव ने 131 रनों की शतकीय पारी खेली. हालांकि राहुल द्रविड़ शतक से महज पांच रन से चूक गए थे. द्रविड़ ने सातवें और आठवें विकेट के लिए कुंबले और जवगल श्रीनाथ के साथ महत्‍वपूर्ण पारियां खेलकर भारत को मजबूत स्‍कोर तक पहुंचाया था.

विराट ने भी आज ही के दिन किया था डेब्‍यू

भारतीय टीम के मौजूदा कप्‍तान विराट कोहली टेस्‍ट क्रिकेट के सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाज हैं. उनका टेस्‍ट डेब्‍यू भी आज ही के दिन 11 साल पहले साल 2011 में हुआ था. उस वक्‍त विराट महज 22 साल के थे. वेस्‍टइंडीज के खिलाफ सबीना पार्क मैदान पर विराट ने इस मैच में महज 19 रनों का ही योगदान दिया था. विराट इस मैच में तो नहीं चले लेकिन यहां से आगे उनका क्रिकेट करियर काफी सुनहरा रहा.