Shafali Verma becomes the youngest player to feature in an ICC World Event final across Men’s and Women’s cricket
Shafali Verma @twitter

भारतीय महिला क्रिकेट टीम आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड कप (ICC Women’s T20 World Cup) के फाइनल में मेजबान ऑस्ट्रेलिया से 85 रन से हारकर पहली बार चैंपियन बनने से चूक गई। मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) में रविवार को खेले गए खिताबी मुकाबले में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया की ओर से दिए गए 185 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 99 रन पर ढेर हो गई।

ICC Women’s T20 World Cup: लीग की हार का बदला फाइनल जीतकर लिया

लीग स्टेज के 4 मैचों में 161 रन बनाने वाली भारतीय युवा ओपनर शेफाली वर्मा (Shafali Verma) का बल्ला भी फाइनल में खामोश रहा। शेफाली खिताबी मुकाबले में सिर्फ 2 रन बनाकर पवेलियन लौट गईं। हालांकि इस दौरान शेफाली ने अपने नाम एक बड़ी उपलब्धि दर्ज कर ली।

शेफाली 16 साल 40 दिन की उम्र में आईसीसी वर्ल्ड इवेंट फाइनल (पुरुष/महिला) में खेलने वाले दुनिया की सबसे युवा क्रिकेटर बन गई हैं। इस मुकाबले में रिचा घोष (Richa Ghosh) को भी कनकशन खिलाड़ी के रूप में क्रीज पर उतरने का मौका मिला। शेफाली के बाद रिचा (16 साल 162 दिन) दूसरी सबसे युवा खिलाड़ी बनने वाली क्रिकेटर बनीं।

Women’s T20 World Cup Final: इन 3 भारतीय खिलाड़ियों पर रहेगी नजर

इससे पहले ये रिकॉर्ड वेस्टइंडीज की शाकाना क्वांटियने के नाम था जिन्होंने 17 साल और 45 दिन की उम्र में 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ महिला वनडे वर्ल्ड कप फाइनल में खेलकर अपने नाम सबसे युवा क्रिकेटर बनने का गौरव हासिल किया था।

पुरुषों की बात करें तो पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir) ने 2009 टी20 वर्ल्ड कप में श्रीलंका के खिलाफ 17 साल और 69 दिन की उम्र में फाइनल खेला था।

शेफाली ने मौजूदा टूर्नामेंट के 5 मैचों में 163 रन बनाए जिसमें 47 रन उनका सर्वोच्च निजी स्कोर रहा। इस दौरान उन्होंने 18 चौके और 9 छक्के लगाए। विकेटकीपर तानिया भाटिया की जगह कनकशन खिलाड़ी के रूप में क्रीज पर उतरीं रिचा घोष ने 18 गेंदों पर 18 रन की पारी खेली।