क्रिकेट के शुरूआती दौर में टीमों ने 900 रन का स्कोर भी बनाया© Getty Images
क्रिकेट के शुरूआती दौर में टीमों ने 900 रन का स्कोर भी बनाया © Getty Images

टेस्ट क्रिकेट में कई बार एक बड़ा स्कोर भी छोटा पड़ जाता है क्योंकि विपक्षी टीम के पास पर्याप्त समय होता है। इसीलिए बल्लेबाजी करने वाली टीम की कोशिश होती है कि वो दूसरी टीम को ज्यादा से ज्यादा रन का टारगेट दे। इस कोशिश में कई बार टीमों ने स्कोर बोर्ड पर इतने रन टांग दिये जिनका पीछा करना विपक्षी टीम के लिए असंभव सा हो गया और विपक्षी टीम दोनों पारियों को मिला कर भी इतने रन नहीं बना पायी तो कई बार टेस्ट बिना नतीजे के खत्म हुए । तो आइए टेस्ट क्रिकेट में एक टीम द्वारा बनाए गए 5 सर्वाधिक रनों के स्कोर पर नजर डालते हैं।

5.पाक (765/6) बनाम श्रीलंका(21-25 फरवरी 2009)

इस टेस्ट मैच में यूनूस खान ने 313 रनों की पारी खेली थी © AFP
इस टेस्ट मैच में यूनिस खान ने 313 रनों की पारी खेली थी © AFP

21 फरवरी 2009 को कराची में खेले गए इस टेस्ट मैच में श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान महेला जयवर्धने और समरवीरा के बेहतरीन दोहरे शतकों की बदौलत पहली पारी में 644/7 रन का पहाड़ सरीखा स्कोर खड़ा किया। पाकिस्तान ने भी करारा जवाब देते हुए बोर्ड पर 765/6 रन टांग दिए। पाकिस्तान के लिए यूनिस खान ने अपने टेस्ट करियर का पहला तिहरा शतक जमाया जबकि कामरान अकमल ने 158 रनों की शानदार पारी खेल कर यूनिस खान का साथ निभाया। रनों के इस अंबार के बीच कोई भी टीम विपक्षी के 20 विकेट लेने में कामयाब नहीं हो सकी जिसकी वजह से ये मैच ड्रा रहा। पाकिस्तान के लिए 313 रन की मैच बचाउ पारी खेलने वाले यूनिस को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया। ALSO READ: विराट कोहली भी अरुण जेटली के समर्थन में उतरे

4.वेस्टइंडीज(790/3) बनाम पाकिस्तान(26 फरवरी- 4 मार्च 1958)

वेस्टइंडीज को 790 के स्कोर तक पहुंचाने में गैरी सोबर्स के 365 रनों का योगदान अहम था © Getty Images
वेस्टइंडीज को 790 के स्कोर तक पहुंचाने में गैरी सोबर्स के 365 रनों का योगदान अहम था © Getty Images

जमैका में खेले गए इस मुकाबले में वेस्टइंडीन ने पाकिस्तान को पारी और 174 रन की करारी शिकस्त दी थी। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 328 रन बनाए, पाकिस्तान के लिए कप्तान इम्तियाज अहमद ने शतक बनाया। जवाब में वेस्टइंडीज की टीम ने रनों का अंबार लगाते हुए सिर्फ 3 विकेट खोकर 790 रन बोर्ड पर टांग दिए और पाक टीम पर 462 रनों की बढ़त ले ली। पाकिस्तान की दूसरी पारी भी 288 पर सिमट गई और वेस्टइंडीज ने मैच पारी औऱ 174 रनों से जीत लिया। वेस्टइंडीज के लिए इस मैच में कॉनरड हंट ने शानदार दोहरा शतक लगाया जबकि गैरी सोबर्स ने 365 रनों की ऐतिहासिक पारी खेली जो उस दौर का सर्वाधिक टेस्ट स्कोर था, जिसको बाद में वेस्टइंडीज के ही ब्रायन लारा ने तोड़ा। ALSO READ: जब क्रिकेट के मैदान में बिली बाउडन ने दिखाया रेड कार्ड

3.इंग्लैंड (849) बनाम वेस्टइंडीज(3-12 अप्रैल 1930)

जमैका में हुए इस टेस्ट में इंग्लैंड ने पहली पारी में 849 रन बना दिये थे जिसमें सैंडहॉम ने 325 रन का योगदान दिया था© Getty Images
इस टेस्ट में इंग्लैंड ने पहली पारी में 849 रन बना दिये थे जिसमें सैंडहॉम ने 325 रन का योगदान दिया था© Getty Images

क्रिकेट के उस दौर में टेस्ट मैच परिणाम आने तक खेले जाते थे। 1930 में इंग्लैंड की टीम वेस्टइंडीज आई थी। 3 अप्रैल को जमैका में शुरू हुए इस मुकाबले में इंग्लैंड ने बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 849 रन बना दिए। इंग्लैंड के इस स्कोर की लिए एंडी सैंडहॉम की 325 रनों की पारी जिम्मेदार थी। इंग्लैंड के 849 रनों का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज टीम पहली पारी में मात्र 286 रनों पर सिमट गई। इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 272 रन बनाए और वेस्टइंडीज को 836 रन के टारगेट दिया। लगभग दो दिन गेंदबाजी करने के बाद जब इंग्लैंड के गेंदबाज वेस्टइंडीज को आउट नहीं कर सके तो दोनों कप्तानों ने आपसी सहमति से मैच को ड्रॉ घोषित कर दिया। ALSO READ: क्रिकेट के 10 अमेजिंग रिकॉर्ड

2.इंग्लैंड (903/7) बनाम ऑस्ट्रेलिया(20-24 अगस्त 1938)

इंग्लैंड ने 1938 में ओवल टेस्ट में क्रिकेट इतिहास का दूसरा सर्वाधिक स्कोर बनाया इसमें लेन हटन 364 रन बनाए थे  © Getty Images
इंग्लैंड ने 1938 में क्रिकेट इतिहास का दूसरा सर्वाधिक स्कोर बनाया इसमें लेन हटन 364 रन बनाए थे © Getty Images

20 अगस्त 1938 को ओवल में शुरू हुए एशेज सीरीज के इस पांचवें टेस्ट मैच को इंग्लैंड ने चौथे दिन में ही जीत लिया था। मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट खोकर 903 रन का स्कोर बना दिया जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया दोनों पारियों में कुल 324 रन ही बना सकी। इस तरह इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को करारी शिकस्त देते हुए मैच को पारी और 579 रनों से जीत लिया। इस मैच में इंग्लैंड के लिए सर लेन हटन ने 364 रन की ऐतिहासिक पारी खेली। ALSO READ: क्रिकेट खिलाड़ियों के सेक्स स्कैंडल

1. श्रीलंका (952/6) बनाम भारत(2-6 अगस्त 1997)

इस टेस्ट में रोशन महानामा ने जयसूर्या के साथ मिलकर 576 रन की साझेदारी निभाई थी © Getty Images
इस टेस्ट में रोशन महानामा ने जयसूर्या के साथ मिलकर 576 रन की साझेदारी निभाई थी © Getty Images

कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में हुए इस मुकाबले में रनों का अंबार लगा दोनों टीमें अपनी एक- एक पारी ही खेल सकी। सीरीज के इस पहले टेस्ट मुकाबले में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सिद्धू, अजहर और सचिन के शतकों की बदौलत 537/8 के स्कोर पर घोषित कर दी। मैच के दूसरे दिन अंतिम सेशन में श्रीलंकाई पारी की शुरूआत हुई और मैच के पांचवे दिन तक चलती रही। मैच में अगर कुछ और ओवर होते तो शायद श्रीलंकाई टीम 1,000 रनों के आंकड़ें को भी छूने का प्रयास करती। श्रीलंका ने 3 दिन से ज्यादा बल्लेबाजी की और अपनी पहली पारी 6 विकेट पर 952 रन के आंकड़े पर खत्म की। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का ये सर्वाधिक स्कोर है जो अब तक बरकरार है। इस मैच में श्रीलंका के लिए जयसूर्या ने सर्वाधिक 340 रन बनाएं जबकि रोशन महानामा ने 225 रन की पारी खेली। पूरे 5 दिन के खेल में दोनों टीमों के गेंदबाज सिर्फ 14 विकेट ही चटका सके। ALSO READ:  टेस्ट क्रिकेट के पांच सबसे तेज शतक