वीवीएस लक्ष्मण © Getty Images (File Photos)
वीवीएस लक्ष्मण © Getty Images (File Photos)

वनडे क्रिकेट में 100 के स्ट्राइक रेट से रन बनाना कोई बड़ी बात नहीं है। लेकिन अगर कोई क्रिकेटर जब जब 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाए और उसकी टीम तब तब अजेय हो जाए तो जरूर ये दुनिया के लिए नई बात है। क्रिकेट के इतिहास को खंगाले तो भारत के स्टायलिश बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण एक ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने अपने करियर में जब- जब 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाए तब- तब टीम इंडिया को जीत मिली है। लक्ष्मण ने अपने वनडे करियर में कुल 5 बार 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं और टीम इंडिया को इन सभी मौकों पर जीत मिली है। लेकिन लक्ष्मण ने इस कारनामे को कैसे अंजाम दिया। आइए जानते हैं।

1. वीवीएस लक्ष्मण बनाम ऑस्ट्रेलिया: वीवीएस लक्ष्मण ने सबसे पहले अपनी तेजतर्रार पारी साल 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली थी। बैंगलुरू में खेले गए पहले वनडे में लक्ष्मण ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 34 गेंदों में 45 रन ठोक दिए थे जिसमें 7 चौके और 1 छक्का शामिल था। भारत ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 315 रन बनाए थे और बाद में भारतीय टीम ने यह मैच 60 रनों से जीत लिया था। लक्ष्मण के अलावा इस मैच में राहुल द्रविड़ ने 80, वीरेंद्र सहवाग ने 58 और विजय दहिया ने 51 रन बनाए थे।

2. वीवीएस लक्ष्मण बनाम केन्या: यह बात साल 2001 की ही है। स्टैंडर्ड बैंक त्रिकोणीय श्रृंखला में भारत और केन्या के बीच मैच खेला गया। इस मैच में वीवीएस लक्ष्मण ने 14 गेंदों में 15 रन बनाए थे। साथ ही भारत के दोनों सलामी बल्लेबाज सौरव गांगुली ने 111 और सचिन तेंदुलकर ने 146 रन बनाए थे। इस तरह से टीम इंडिया ने 351 रनों का स्कोर खड़ा किया था। अंततः भारतीय टीम ने यह मैच 186 रनों से जीत लिया। गौर करने वाली बात रही कि लक्ष्य का पीछा करने उतरी केन्या की टीम ने पूरे 50 ओवर खेले और 5 विकेट पर 165 रन बनाए। इस दौरान उनके किसी भी बल्लेबाज ने 70 के ऊपर के स्ट्राइक रेट से रन बनाने की कोशिश नहीं की।

3. वीवीएस लक्ष्मण बनाम न्यूजीलैंड: यह बात साल 2003 की है। भारत और न्यूजीलैंड के बीच टीवीएस कप का पहला मैच चेन्नई में खेला जा रहा था। भारत ने पहले बल्लेबाजी की और सहवाग का विकेट 53 पर गिरने के बाद वीवीएस लक्ष्मण ने धमाकेदार बल्लेबाजी की और पांच चौके ठोकते हुए आनन फानन में 23 गेंदों में 25 रन ठोक दिए। भारत ने अभी 26.5 ओवरों में 141 रन बनाए ही थे कि बारिश होने लगी। उस समय भारत अच्छी पोजीशन पर था और सचिन तेंदुलकर 48 रनों पर नाबाद खेल रहे थे। ऐसे में बड़ा स्कोर बनना तो लाजमी था और टीम इंडिया जाहिर तौर पर मैच जीतती।

4. वीवीएस लक्ष्मण बनाम पाकिस्तान: साल 2004 में लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में खेले गए मैच में पाकिस्तान के 294 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की ओर से तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे वीवीएस लक्ष्मण ने 18 गेंदों में 20 रन ठोके जिसमें 4 चौके शामिल थे। अंततः राहुल द्रविड़ के 76 और मोहम्मद कैफ के 71 रनों की बदौलत टीम इंडिया ने ये मैच 5 विकेट से जीत लिया। लक्ष्मण इसके पहले ऑस्ट्रेलिया दौरे में भी खूब चमके थे और तीन शतक जड़े थे लेकिन इस दौरान वह कभी 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन नहीं बना सके।

5. वीवीएस लक्ष्मण बनाम पाकिस्तान: साल 2004 में ही गद्दाफी स्डेयिम में खेले गए पांचवें वनडे मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 293 रन बनाए। इस दौरान वीवीएस लक्ष्मण ने 104 गेंदों में 107 रन बनाए थे। उनकी इस पारी में 11 चौके शामिल थे। यह पांचवीं बार था जब वीवीएस ने 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से वनडे में रन बनाए हों। भारत ने इस मैच को 40 रनों से जीत लिया और श्रृंखला को 3-2 से अपने नाम कर लिया।

नोट: इस लेख में लक्ष्मण की 100 से ज्यादा से स्ट्राइक रेट वाली पारियों को गिना गया है। एक बार उन्होंने 22 गेंदों में 22 रन बनाए थे और उस वक्त उनका स्ट्राइक रेट करेक्ट 100 का रहा था। चूंकि यहां बात 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट की की गई है इसलिए उस आंकड़े को इस लेख में सम्मिलित नहीं किया गया है।