अपने T20I रिकॉर्ड को सुधारना चाहते हैं ए बी डीविलियर्स © AFP
अपने T20I रिकॉर्ड को सुधारना चाहते हैं ए बी डीविलियर्स © AFP

साउथ अफ्रीका के विस्फोटक बल्लेबाज  ए बी डीविलियर्स ने स्वीकार किया है कि वो अपने मौजूदा T20I रिकॉर्ड से संतुष्ट नहीं हैं और वो इसे सुधारना चाहते हैं। डीविलियर्स का यह बयान ने विरोधी टीम के कप्तान और गेंदबाजों के लिए खतरे की घंटी है। डीविलियर्स ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टी20 में सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाते हुए 29 गेंदों पर 71 रनों की पारी खेलकर टीम को 9 विकेट की जीत दिलाने में मु्ख्य भूमिका निभाई। 32 वर्षीय बल्लेबाज डीविलियर्स अपने T20I रिकॉर्ड को सुधारना चाहते हैं और इंग्लैंड के खिलाफ किया गया उनका प्रदर्शन इस दिशा में पहला कदम हैं। डीविलियर्स ने कहा कि पारी की शुरूआत करने की वजह से उनको T20I रिकॉर्ड सुधारने का मौका मिला है। डीविलियर्स ने आगे कहा कि वो अपनी सलामी बल्लेबाज की भूमिका को लंबे समय तक निभाना चाहेंगे। ALSO READ: क्रिकेट का नया सुपरस्टार ए बी डीविलियर्स

इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे T20I में डीविलियर्स ने 71 रनों की अपनी मैच जिताऊ पारी में 6 छक्के और 6 चौके जमाए। डीविलियर्स साउथ अफ्रीका के लिए 65 T20I खेल चुके हैं जिनमें उनका औसत सिर्फ 23.49 का है। साउथ अफ्रीकन टीम अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज खेलेगी। जिसकी शुरूआत 4 मार्च को डरबन में होने वाले मुकाबले के साथ होगी।

T20I में अपने रिकॉर्ड से नाखुश डीविलियर्स का वनडे और टेस्ट मैचों में शानदार रिकॉर्ड है। टेस्ट क्रिकेट में उनका औसत 50.46 है तो वनडे में उनका औसत 54.56 का है। वनडे क्रिकेट में उनका स्ट्राइक रेट भी 100 से ज्यादा है जो कि पचास से ज्यादा औसत रखने वाले बल्लेबाज के लिए शानदार स्ट्राइक रेट है। T20I में उनका औसत 23.49 का है जबकि स्ट्राइक रेट 128.88 है जो उनकी बल्लेबाजी का सही आंकलन नहीं करता है।