आयरलैंड बनाम अफगानिस्तान © Getty Images
आयरलैंड बनाम अफगानिस्तान © Getty Images

जल्द ही टेस्ट क्रिकेट में दो नए देश खेलते दिख सकते हैं। खबरों की मानें तो आयरलैंड और अफगानिस्तान को टेस्ट खेलने का दर्जा दिया जा सकता है। दरअसल अभी हाल ही में लंदन में हुई आईसीसी की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा भी की गई थी। आईसीसी के सीईओ डेव रिचर्डसन ने भी इसके संकेत दे दिए हैं कि टेस्ट खेलने वाले देशों की संख्या 10 से 12 हो सकती है।

बैठक के बाद डेव रिचर्डसन ने कहा, “कोई भी फैसला जल्दबाजी में लेना ठीक नहीं। दोनों देशों ने इसके लिए अप्लाई किया है और दोनों देश आईसीसी के फुल टाइम मेंबर बन सकते हैं।” रिचर्डसन ने संभावना जताई कि आयरलैंड और अफगानिस्तान दोनों ही 11वां और 12वां देश बन सकते हैं, जो टेस्ट खेलते हों। हालांकि इस बारे में कोई भी फैसला अगले हफ्ते तक लिया जा सकता है।

बांग्लादेश को 10 साल पहले टेस्ट खेलने का दर्जा मिला था। बता दें कि अफगानिस्तान और आयरलैंड, दोनों ही देशों ने बीते कुछ समय में अच्छा खेल दिखाया है। आयरलैंड क्रिकेट ने 2012 में कहा था कि 2020 तक वो टेस्ट खेलने का दर्जा प्राप्त करना चाहता है। वहीं, अफगानिस्तान ने बीते कुछ समय में शानदार खेल दिखाया है। अगर दोनों देशों को फुल टाइम मेंबर का दर्जा दिया जाता है, तो क्रिकेट को दोनों मुल्कों में लोकप्रियता मिलेगी। ये भी पढ़ें-सनसनीखेज खुलासा- विराट कोहली छोड़ने वाले थे कप्तानी?

टेस्ट खेलने वाली 10 टीमें इस प्रकार हैं। भारत, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, श्रीलंका, वेस्टइंडीज, बांग्लादेश और जिम्बाब्वे। 2006 से 2011 के बीच खराब प्रदर्शन के कारण जिम्बाब्वे की टेस्ट मैच खेलने की सदस्यता रद्द कर दी गई थी। हालांकि अगस्त 2011 में फिर से उसे टेस्ट मैच खेलने की सदस्यता मिल गई थी।