Batting will hold key to West Indies’ success in England, feels Mike Atherton
माइक अथर्टन (Twitter)

पूर्व कप्तान माइक अथर्टन का मानना है कि वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों को अपनी गेंदबाजी यूनिट के लिए बोर्ड पर पर्याप्त रन लगाने की जरूरत है ताकि इंग्लैंड पर दबाव बनाया जा सके।

इंग्लैंड का 30 सदस्यीय ट्रेनिंग ग्रुप आठ जुलाई से वेस्टइंडीज के साथ शुरू हो रही टेस्ट सीरीज से पहले एजेस बाउल में बॉयो सेक्योर वातावरण में तैयारी कर रहा है। तीन मैचों की इस सीरीज के साथ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी भी होगी, जो कोरोना वायरस महामारी के कारण स्थगित हुई पड़ी है।

अथर्टन ने सोनी नेटवर्क पर पिट स्टॉप शो पर कहा, “वेस्टइंडीज ऐसा दिखता है, जैसे कि उसके पास अच्छी गेंदबाजी यूनिट है। केमार रोच 200 टेस्ट विकेट लेने के करीब हैं। जेसन होल्डर, शेनन गेब्रियल, अल्जारी जोसेफ और कुछ युवा जोकि शानदार हैं। सवाल ये है कि क्या वेस्टइंडीज उतने रन बना पाएगा, जिससे कि उसके गेंदबाज इंग्लैंड को परेशान कर सकें।”

इंग्लैंड के लिए 1989 से 2011 के बीच 115 टेस्ट और 54 वनडे मैच खेल चुके अथर्टन ने कहा, “(क्रैग) ब्रैथवेट और शे होप जब पहली बार यहां आए थे तो उन्होंने कमाल का प्रदर्शन किया था। लेकिन उसके बाद से उनके फार्म में उतार चढाव आता रहा है। अगर वे रन बनाते हैं तो इंग्लैंड के लिए ये एक खतरा होगा।”

पूर्व इंग्लिश कप्तान का कहना- विदेशी धरती पर भी टेस्ट क्रिकेट में सफल होंगे रोहित शर्मा

वेस्टइंडीज सीरीज के बाद इंग्लैंड को पाकिस्तान की भी मेजबानी करनी है। लेकिन इंग्लैंड दौरे से पहले ही पाकिस्तान के कई खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। अर्थटन का मानना है कि जो खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, उनमें से अधिकतर सीमित ओवरों के खिलाड़ी हैं, इसलिए वो बाद में इंग्लैंड आ सकते हैं।

पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, “उनमें से अधिकतर खिलाड़ी पाकिस्तान के सीमित ओवरों के खिलाड़ी हैं। हो सकता है कि उनकी पहली पसंद टेस्ट क्रिकेटर हो। इसलिए पॉजिटिव पाए जाने वाले वनडे खिलाड़ियों के लिए अभी समय है। और वे बाद में आएंगे।”