नासिर हुसैन-बेन स्टोक्स  © Getty Images (File Photo)
नासिर हुसैन-बेन स्टोक्स © Getty Images (File Photo)

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन का कहना है कि बेन स्टोक्स की मौजूदगी से प्रतिष्ठित एशेज सीरीज सर्कस में बदल जाएगी। हुसैन ने डेलीमेल यूके के लिए लिखे एक लेख में ये बात कही। हुसैन का मानना है कि पूरा मामला सुलझने तक स्टोक्स को टीम से बाहर रखना ही सही होगा। उन्होंने लिखा, “शायद इस मामले से बचने का एक ही रास्ता है कि पुलिस और जांच अधिकारी ये कह दें कि इंग्लैंड के उप-कप्तान बेकसूर हैं और उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। वर्ना ये डर है कि इस मानसिक स्थिति के साथ वह ऑस्ट्रेलिया में नहीं खेल पाएगा। इतना ही नहीं खतरा ये भी है कि उनकी मौजूदगी से एशेज सर्कस में बदल जाएगा। केवल स्टोक्स की बातें ही होंगी।”

साथ ही उन्होंने कहा है कि इंग्लैंड और वेल क्रिकेट बोर्ड इस मामले को सही तरीके से संभाले। उन्होंने आगे लिखा, “मेरा ये भी मानना है कि ईसीबी का ये काम है कि वह इस मामले का ध्यान रखे और स्टोक्स को ऐसी किसी स्थिति में ना डालें जहां उसके लिए चीजें संभालना मुश्किल हो जाय। बोर्ड ने अब तक इस मामले को संभाला है लेकिन वीडियो बाहर आने की वजह से स्थिति पूरी तरह बदल गई है।” बता दें कि ‘सन अखबार’ में स्टोक्स के झगड़े का वीडियो आने के बाद बोर्ड ने स्टोक्स और उनके साथ शामिल एलेक्स हेल्स को निलंबित कर दिया है। दोनों खिलाड़ियों को पूरा वेतन मिलेगा लेकिन आगे किसी भी सूचना के आने तक वह टीम से बाहर रहेंगे। [ये भी पढ़ें: जॉनी बैरस्टो के शानदार शतक की मदद से पांचवें वनडे में इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को 9 विकेट से हराया]

हुसैन ने बतौर क्रिकेटर स्टोक्स की काफी तारीफ की। उन्होंने लिखा, “वह ऐसा खिलाड़ी है जिसे ऑस्ट्रेलिया अपनी टीम में जरूर शामिल करना चाहेगी। हालांकि इंग्लैंड उसके बिना भी खेल सकती है, ऑस्ट्रेलिया टीम काफी कमजोर है।”