Bishan Singh Bedi:Fining MS Dhoni 50 percent of his match fee is kid gloving
MS Dhoni @ BCCI

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान बिशन सिंह बेदी ने ‘डरपोक’ अधिकारियों को आड़े हाथों लिया जिन्होंने चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर आईपीएल मैच के दौरान मैदानी अंपायरों से बहस करने के लिए 50 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना लगाया।

पढ़ें: दिल्ली ने टॉस जीतकर चुनी गेंदबाजी, तीन बदलाव के साथ उतरी कोलकाता

बेदी ने ट्वीट किया, ‘मीडिया ने धोनी के कल रात मैदान के अंदर आने को अंपायरों के खिलाफ बेहद अपरिपक्व विरोध करार दिया है जिस पर मैं हैरान हूं। मेरे लिए यह अबूझ पहेली है कि खेल पत्रकार गलती करने वाले स्थापित सितारों के खिलाफ ईमानदार अभिव्यक्ति करने से क्यों बचते हैं। यहां तक कि अधिकारियों का भी धोनी के प्रति डरपोक रवैया अपनाकर 50 प्रतिशत जुर्माना लगाना बचकाना है।’

पढ़ें: मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा हुए फिट, चयन के लिए उपलब्ध

यह घटना चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रायल्स के बीच खेले गए आईपीएल मैच के दौरान घटी थी। धोनी ने आईपीएल की आचार संहिता के 2.20 के स्तर 2 का अपराध किया और अपनी गलती मान ली।

ये था मामला 

मामला चेन्नई की बल्लेबाजी के दौरान खेले गए मैच के आखिरी ओवर का है, जब सीएसके टीम को जीत के लिए तीन गेंदो पर आठ रन बनाने थे। बेन स्टोक्स 20वां ओवर करा रहे थे और स्ट्राइक पर मिशेल सेंटनर थे। ओवर की चौथी गेंद सेंटनर के कंधे के ऊपर तक गई जिसे सामने खड़े फील्ड अंपायर ने नो बॉल दिया लेकिन फिर नो बॉल देने का अधिकार लेग अंपायर का होता है।

लेग अंपायर ब्रूस ऑक्सनफोर्ड ने इसे नो बॉल नहीं दिया। जिसके बाद नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े रविंद्र जडेजा काफी गुस्से में दिखे और अंपायर से बहस करने लगे। थोड़ी ही देर में डगआउट से कप्तान धोनी मैदान पर आए और अंपायरों से बातचीत करने लगे। हालांकि चौथी गेंद को नो बॉल नहीं दिया गया और मैच आगे बढ़ा। स्टोक्स की वाइड गेंद की बदौलत सैंटनर ने छक्का लगाकर चेन्नई को मैच जिताया।