ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज कैमरून बैनक्रॉफ्ट (Cameron Bancroft) ने इस बात का खुलासा किया है कि 2018 में दक्षिण अफ्रीका में हुई टेस्ट सीरीज के दौरान हुए बॉल टैम्परिंग योजना को लेकर गेंदबाज पहले से ही अवगत थे. 2018 में हुए बॉल टैम्परिंग मामले में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का जबकि डेविड वॉर्नर तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ को 12 महीने का प्रतिबंध लगा दिया था.

बैनक्रॉफ्ट ने द गार्जियन से बातचीत में कहा, “हां… मैं जो करना चाहता था, वह अपने स्वयं के कार्यों और भाग के लिए जिम्मेदार और जवाबदेह होना था. हां, जाहिर है कि मैंने जो किया उससे गेंदबाजों को फायदा हुआ और इसके बारे में गेंदबाजों को पता था. मुझे लगता है कि मैंने जो किया उसकी जिम्मेदारी खुद लेना चाहता था. मैंने गेंदबाजों को फायदा पहुंचाया और इस बारे में शायद उन्हें भी पता था. मैंने एक चीज सीखी है कि अगर मैं ज्यादा जागरुक होता तो बेहतर निर्णय ले पाता.”

बैनक्रॉफ्ट ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 10 मैचों में अब तक 446 रन बनाए हैं. केप टाउन टेस्ट हुए दौरान हुए बॉल टैम्परिंग के बाद बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने तक बैन लगा दिया गया था. उन्होंने कहा, “मैं बहुत निराश था क्योंकि मैंने टीम को निराश किया और एक ऐसा काम किया जिसने मेरे मूल्यों से पूरी तरह समझौता किया. लेकिन यह मेरे लिए तब हुआ जब मैं वास्तव में उस स्तर पर सुधार कर रहा था.”

बैनक्रॉफ्ट ने आगे कहा, “ऐसा लगा जैसे मैंने बहुत कुछ फेंक दिया हो. मैंने अब तक टेस्ट में एक भी शतक नहीं लगाया था, लेकिन मुझे लगा था कि मैं इसे हासिल करने की राह पर हूं, इसलिए मैं इसे छोड़ने के लिए बेहद निराश था.”