Chris Lynn says no to red-ball cricket and diving during matches
Chris Lynn (File Photo) © Getty Image

ऑस्‍ट्रेलिया के बल्‍लेबाज क्रिस लिन का करियर चोटों से भरा रहा है। कंधे की चोट के कारण ही उन्‍हें कई बार लंबे समय तक टीम से बाहर रहना पड़ा। अब उन्‍होंने ये निर्णय लिया है कि वो अपने करियर को लंबा बनाए रखने के लिए मैच के दौरान डाइव नहीं लगाएंगे।

फॉक्‍स स्‍पोर्ट्स डॉट कॉम डॉट एयू से बातचीत के दौरान क्रिस लिन ने कहा कि उन्‍होंने अब अपने घरेलू टीम क्वींसलैंड के लिए रेड बॉल क्रिकेट (टेस्‍ट क्रिकेट) खेलना छोड़ दिया है। क्रिस लिन ने मौजूदा घरेलू वनडे कप के दौरान 75.33 की औसत से 452 रन बनाए। उन्‍होंने इस दौरान एक शतक और तीन अर्धशतक भी बनाए। 16 अक्‍टूबर से शुरू हो रहे घरेलू टूर्नामेंट शेफील्ड शील्ड 2018-19 का हिस्‍सा क्रिस लिन नहीं होंगे।

क्रिस लिन को पाकिस्‍तान के खिलाफ तीन टी-20 मैचों की सीरीज में शामिल किया गया है। उन्‍होंने कहा, “मैं अपनी चोटों के कारण इस वक्‍त सीमित ओवरों के क्रिकेट पर ही अपना ध्‍यान केंद्रित कर रहा हूं। अगर मैं शेफील्‍ड शील्‍ड में पहले दिन अच्‍छा प्रदर्शन करता हूं तो बाकी दिन मेरे लिए अपने प्रदर्शन को बरकरार रख पाना आसान नहीं होगा।”

उन्‍होंने कहा कि अगले साल विश्‍व कप को देखते हुए मैं खुद को पूरी तरह से फिट रखना चाहता हूं। मैं चाहता हूं कि विश्‍व कप की टीम के सिलेक्‍शन के दौरान में फिट रहूं। अगले साल भर में मुझे पता चलेगा कि मेरी बॉडी मुझे कितना सहयोग करती है। इस दौरान मेरे पास काफी सीमित ओवरों का क्रिकेट खेलने के लिए है।

उन्‍होंने कहा, “मैं अपने शरीर को देखते हुए अब फील्डिंग के दौरान कभी डाइव नहीं लगाउंगा। मानसिक रूप से ऐसा करना काफी मुश्किल है। पिछले कुछ समय में मुझे कंधे में जो भी चोट लगी हैं वो डाइविंग की वजह से ही लगी है। गेंद को रोकने की जद्दोजहद में दिमाग काम करना बंद कर देता है और में डाइव लगा देता हूं। मुझे ये अहसास करना ही होगा कि लंबे समय तक क्रिकेट में अपनी जगह बनाए रखने के लिए मुझे फिट रहना है।”