England vs India, 5th Test: भारत-इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज का पांचवां और अंतिम मुकाबला रद्द हो गया. टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और फील्डिंग कोच आर श्रीधर के बाद सहायक फिजियो योगेश परमार भी कोरोना संक्रमित पाए गए, जिसके बाद टॉस से महज दो घंटे पहले इसे रद्द कर दिया गया. एक तरफ जहां भारतीय खिलाड़ियों ने खुद मुकाबले को रद्द करने की मांग की थी, वहीं दूसरी तरफ मुकाबले के आयोजन से कोरोना वायरस के प्रसार की आशंका भी व्यक्त की जा रही थी.

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने कहा, “बीसीसीआई और ईसीबी के बीच मजबूत संबंधों को देखते हुए बीसीसीआई ने ईसीबी को रद्द किए गए टेस्ट मैच को फिर से आयोजित करने की पेशकश की है. दोनों बोर्ड इस टेस्ट मैच को फिर से आयोजित करने की दिशा में काम करेंगे.”

शाह ने कहा, ‘‘बीसीसीआई और ईसीबी ने टेस्ट मैच के आयोजन का रास्ता तलाशने के लिये कई दौर की बातचीत की, लेकिन भारतीय दल में कोविड-19 के मामले पाये जाने के कारण ओल्ड ट्रैफर्ड टेस्ट मैच को रद्द करने का निर्णय किया गया. बीसीसीआई हमेशा से कहता रहा है कि खिलाड़ियों की सुरक्षा सर्वोपरि है और इससे कोई समझौता नहीं किया जाएगा.’’

शाह ने इन मुश्किल परिस्थितियों को समझने के लिये ईसीबी का भी आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा, ‘‘बीसीसीआई इस मुश्किल समय में सहयोग और समझ के लिये ईसीबी का आभार व्यक्त करता है. हम प्रशंसकों से इस रोमांचक श्रृंखला को पूरी नहीं कर पाने के लिये माफी मांगते हैं.’’

टीम इंडिया इस वक्त शृंखला में 2-1 से आगे है. ऐसे में सीरीज के फैसले के लिए अंतिम मुकाबले का आयोजन बेहद जरूरी बन चुका है. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने उम्मीद व्यक्त की है कि मैच बाद में किसी नए विंडो में आयोजित किया जा सकता है. माना जा रहा है कि जुलाई 2022 में जब भारतीय टीम सीमित ओवरों के छह मैच खेलने के लिए इंग्लैंड का दौरा करेगी, तब उस वक्त इस पांचवें टेस्ट मैच को खेला जा सकता है.

पांचवें मैच के रद्द होने के बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से जारी बयान में कहा गया कि दोनों बोर्ड किसी और समय मैच को फिर से निर्धारित करने के की दिशा में काम करेंगे.

पांचवें मैच के रद्द होने के बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से जारी बयान में कहा गया कि दोनों बोर्ड किसी और समय मैच को फिर से निर्धारित करने के की दिशा में काम करेंगे. ऐसे में इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) टॉम हैरिसन ने कहा कि प्रस्तावित मुकाबला शृंखला के लिए निर्णायक होने के बजाय एक मैच का टेस्ट का मैच होगा.

हैरिसन से स्काई स्पोर्ट्स ने जब पूछा कि क्या यह मुकाबला इस श्रृंखला का निर्णायक टेस्ट होगा तो उन्होंने कहा, ‘‘ नहीं, मुझे लगता है कि यह एकमात्र टेस्ट मैच होगा. हमें कुछ अन्य विकल्पों की पेशकश की गई है, शायद उन पर विचार करने की जरूरत है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘अभी हमारी कोशिश यह है कि इस मैदान पर भारत के खिलाफ एक टेस्ट मैच खेलने की संभावनाओं को खोजे, उस पर काम करने की कोशिश करें. यह आज की एकमात्र अच्छी खबर हो सकती है.’’

अगर यह एक टेस्ट की श्रृंखला होगी तो भारत को इंग्लैड के खिलाफ मौजूदा श्रृंखला का विजेता माना जाएगा क्योंकि यह अभी 2-1 से आगे है. इसकी हालांकि अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.