India vs South Africa: भले ही भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज गंवा दी, लेकिन टीम इंडिया को बड़ी राहत मिली है. केप टाउन टेस्ट के दौरान डीन एल्गर को नॉट आउट दिए जाने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने स्टंप माइक पर अपनी भड़ास निकाली थी. इस मामले के बाद आलोचकों ने विराट कोहली पर फाइन लगाने की मांग की थी. यहां तक कि कुछ ने उन पर बैन तक लगाने को कह दिया. हालांकि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने इस तरह का कोई बड़ा कदम ना उठाने का फैसला लिया है.

आईसीसी ने भारतीय टीम को सिर्फ चेतावनी देकर छोड़ दिया है. किसी भी खिलाड़ी पर कोई चार्ज नहीं लगाया गया है, जो भारतीय फैंस के लिए बड़ी राहत की खबर है. मैच अधिकारियों ने टीम से बात की है, लेकिन ऑफिशयली कोड ऑफ कंडक्ट तोड़ने का चार्ज नहीं लगाया है.

साउथ अफ्रीका की दूसरी पारी के 21वें ओवर में रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) की गेंद पर अंपायर ने डीन एल्गर (Dean Elgar) को आउट दिया, लेकिन विपक्षी टीम के बल्लेबाज ने डीआरएस ले लिया और थर्ड अंपायर ने उन्हें नॉट आउट दे दिया.

रीप्ले में साफ दिख रहा था कि इम्पैक्ट और पिचिंग इन लाइन दी, लेकिन हॉकआई के मुताबिक बॉल स्टंप्स पर नहीं लग रही थी, जिसके बाद एल्गर को नॉट आउट करार दिया गया. इससे भारतीय खेमा नाराज हो गया और कप्तान कोहली, उपकप्तान केएल राहुल तथा सीनियर ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने दक्षिण अफ्रीकी प्रसारक सुपर स्पोटर्स को स्टम्प माइक पर तंज कसे.

गुस्साए विराट कोहली ने स्टंप्स माइक के करीब आकर कहा, “अपनी टीम पर फोकस कीजिए. सिर्फ विपक्षी टीम पर ध्यान न दें. हर समय लोगों को पकड़ने की कोशिश कर रहे हैं.” वहीं रविचंद्रन अश्विन ने बॉल-ट्रैकिंग तकनीक पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सुपरस्पोर्ट आपको जीतने के बेहतर तरीके खोजने चाहिए.