पंजाब किंग्स (PBKS) की टीम आईपीएल के नए सीजन में भी अपने कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) के साथ बनी रहना चाहती थी. लेकिन केएल राहुल पंजाब के साथ रहने में खुश नहीं थे और वह खुद को नीलामी के लिए ओपन रखना चाहते थे. मीडिया में कुछ खबरें हैं कि दरअसल आईपीएल में इस सत्र से जुड़ी दो नई टीमों में से किसी एक ने टी20 के इस धाड़क बल्लेबाज से संपर्क साधा था और उन्होंने राहुल को अपनी टीम से खेलने के लिए मोटी रकम की पेशकश की है. पंजाब किंग्स (PBKS) इससे नाराज है और उसका कहना है कि अगर दूसरी टीमों ने राहुल से संपर्क साधा है तो यह बीसीसीआई के नियमों का उल्लंघन है.

केएल राहुल (KL Rahul) को पंजाब किंग्स ने बीते दो सत्र से अपना कप्तान नियुक्त किया हुआ था और उन्हें पूरी आजादी मिली थी. इसके बावजूद वह टीम छोड़ रहे हैं. राहुल को 2020 सत्र की शुरुआत में आर. अश्विन (Ravichandran Ashwin) की जगह कप्तान बनाया गया था. उन्होंने बल्लेबाजी में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन टीम को प्लेऑफ तक नहीं ले जा सके. अब खबरें हैं कि वह लखनऊ टीम से जुड़ने जा रहे हैं.

पंजाब टीम के सह मालिक नेस वाडिया ने पीटीआई से कहा, ‘हम चाहते थे कि राहुल टीम में रहें लेकिन वह नीलामी में वापिस जाना चाहते हैं. यदि दूसरी टीमों ने उन्हें रिलीज किए जाने से पहले उनसे संपर्क किया है तो यह गलत है.’

लखनऊ से जुड़ने की राहुल को पेशकश मिलने की अटकलों के बारे में उन्होंने कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि ऐसा नहीं है क्योंकि यह बीसीसीआई के दिशा निर्देशों के खिलाफ होगा.’ 2010 में रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को एक साल का निलंबन झेलना पड़ा था, जो राजस्थान रॉयल्स (RR) द्वारा छोड़े जाने से पहले ही दूसरी टीमों से बातचीत कर रहे थे.

नई टीमों लखनऊ और अहमदाबाद को मंगलवार को रिलीज किए गए खिलाड़ियों में से तीन चुनने के लिए 25 दिसंबर तक का समय है. राहुल के अलावा अश्विन, हार्दिक पांड्या, राशिद खान और युजवेंद्र चहल भी इनमें शामिल हैं.

पंजाब अगली नीलामी से पहले अश्विन को वापिस लेने का इच्छुक है. पंजाब ने सिर्फ मयंक अग्रवाल और अर्शदीप सिंह को रिटेन किया है और उसके पास 72 करोड़ रूपये का पर्स है.