पहले क्वॉलीफायर में हाथ आई बाजी हारकर भी राजस्थान रॉयल्स (RR) निराश नहीं है. वह बखूबी जानती है कि फाइनल में पहुंचने के लिए उसके पास दूसरा मौका है और वह यहां हार नहीं मानेगी. दूसरे क्वॉलीफायर में शुक्रवार को उसका सामना अपने पहले खिताब की तलाश में जुटी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) से है. इस मैच से पहले राजस्थान के युवा ऑलराउंडर रियान पराग (Riyan Parag) ने कहा कि कोलकाता में पहले क्वॉलीफायर में गुजरात टाइटन्स (GT) से मिली हार पर हमने ज्यादा बातचीत नहीं की. टीम को खुद पर भरोसा है और उसके पास खिलाड़ियों का ऐसा कॉम्बिनेशन है जो किसी भी हालात में जीत सकता है.

राजस्थान रॉयल्स के पास पहला क्वॉलीफायर जीतकर सीधे फाइनल में पहुंचने का मौका था, लेकिन तब उसके युवा तेज गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्णा आखिरी ओवर में 16 रन का बचाव नहीं कर पाए थे और डेविड मिलर ने उन्हें पहली 3 गेंदों पर 3 छक्के मारकर अपनी टीम को फाइनल में पहुंचा दिया.

आज RCB के खिलाफ मैच से पहले टीम के युवा ऑलराउंडर रियान पराग ने इस मैच से पहले टीम की मनोदशा पर बात की. उन्होंने कहा, ‘पिछले मैच से हमने काफी कुछ सीखा है. हमने कुछ बदलावों पर बात की है. टीम का माहौल सचमुच शानदार है. हमारे पास इस सीजन नंबर 2 पर खत्म करने के लिए एक और सुनहरा मौका है. टीम में अच्छी तरंगे महसूस हो रही हैं. हमने पिछली हार पर ज्यादा चर्चा नहीं की. हमने टूर्नामेंट की शुरुआत से पहले तय किया था कि हम टीम का संतुलन बरकरार रखेंगे. हम इससे जुड़े रहे और हमारी टीम को जो सामंजस्य है वह हर स्थिति और हर परिस्थिति के लिए बेहतर है.’

मैच से पहले जब उनसे फाइनल में पहुंचने की संभावनाओं पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, ‘हमारी टीम के काफी अच्छे चांस हैं. हमारे पास ट्रेंट बोल्ट, रवि अश्विन और युजवेंद्र चहल जैसे गेंदबाज हैं. उनकी जैसे खिलाड़ियों को दरकिनार करना मुश्किल है.’

पराग ने कहा, ‘अगर आप सोच रहे हैं कि दबाव होगा तो बता दूं कि दबाव है. मेरे लिए अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेलना उपलब्धि की बात है. क्योंकि यहां यह मेरा पहला मैच है.’