On This Day, Two Year Ago: भारत की टीम कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli Last International Century) को आज भी मौजूदा वक्‍त का सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़ी माना जाता है लेकिन क्‍या आपको पता है कि विराट को अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में शतक जड़े आज दो साल पूरे हो गए हैं. जी हां, आज ही के दिन दो साल पहले विराट ने आखिरी बार अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में शतक जड़ा था. मौका था भारत के पहले पिंक बॉल टेस्‍ट (Pink Ball Test) का, जिसमें पड़ोसी देश बांग्‍लादेश भारत के सामने खेल रहा था. कोलकाता के ईडन गार्डन में खेले गए इस मुकाबले में विराट कोहली ने 194 गेंदों पर 134 रन की पारी खेली थी.

ऐतिहासिक टेस्‍ट में मिली जीत

इस पारी के दम पर ही भारतीय टीम ने इस ऐतिहासिक टेस्‍ट मैच में मेहमान टीम पर पारी और 46 रन से जीत दर्ज की थी. इस मैच को और भी खास बनाने के लिए बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने भारत के तमाम पूर्व कप्‍तानों को गेस्‍ट के तौर पर बुलाया था. टेस्‍ट मैच होने के बावजूद भी मैच के प्रत्‍येक दिन मैदान दर्शकों से खचा-खच भरा रहा.

शतक को तरसते रहे विराट

विराट कोहली के लिए इसके आगे का वक्‍त खास अच्‍छा नहीं रहा. ये वो दौर था जब विराट टेस्‍ट और वनडे क्रिकेट में नंबर-1 बल्‍लेबाज के तौर पर जाने जाते थे. शतक लगाना मानों उनकी आदत बनती जा रही थी. बैक टू बैक शतक लगाने के कारण ऐसा कहा जाता था कि विराट बेहद जल्‍द सचिन तेंदुलकर के शतकों के शतक के रिकॉर्ड को भी तोड़ देंगे. हालांकि बीते दो साल के उनके प्रदर्शन को देखते हुए ऐसा थोड़ा मुश्किल नजर आता है.

विराट कोहली की उम्र अभी 33 साल है और वो अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में अबतक 70 शतक लगा चुके हैं. अगर अब भी विराट पहले जैसी लय प्राप्‍त कर लेते हैं तो ये कहना गलत नहीं होगा कि अगले पांच सालों में वो सचिन तेंदुलकर के शतकों के शतक के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे.

अब भी 50 से ज्‍यादा का औसत

विराट कोहली शतक नहीं लगा पा रहे हैं इसका यह मतलब कतई नहीं है कि भारतीय कप्‍तान खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं. विराट अब भी सभी फॉर्मेट में भारतीय टीम के शीर्ष बल्‍लेबाज हैं. वनडे, टेस्‍ट और टी20 सभी फॉर्मेट में उनका औसत 50 से अधिक हैं. अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में बहुत कम ऐसे बल्‍लेबाज हैं जो सभी फॉर्मेट में इस तरह की औसत बनाए रखे हैं. विराट के लिए ये महज एक बुरा वक्‍त है जो वो शतक लगाने से बार-बार चूक रहे हैं.