वाशिंगटन सुंदर © AFP
वाशिंगटन सुंदर © AFP

वाशिंगटन सुंदर के शानदार ऑलराउंड के प्रदर्शन के चलते इंडिया रेड ने दिलीप ट्रॉफी के फाइनल मैच में इंडिया ब्लू तो 163 रनों के बड़े अंतर से हराया। दूसरी पारी में 393 के विशाल लक्ष्य का पीछा कर रही इंडिया ब्लू टीम सुंदर की घातक गेंदबाजी के आगे 229 के स्कोर पर सिमट गई। मैन ऑफ द मैच रहे सुंदर ने कप्तान सुरेश रैना और मनोज तिवारी समेत छह बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। मैच में सुंदर ने कुल 11 विकेट झटके। आईपीएल 2017 के बाद लाइम लाइट में आए सुंदर ने केवल गेंद ही नहीं बल्कि बल्ले से भी अपनी छाप छोड़ी। सुंदर ने पहली पारी में 88 और दूसरी पारी में उन्होंने 42 रन बनाए।

टॉस जीतकर इंडिया रेड के कप्तान दिनेश कार्तिक ने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था। सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ और कप्तान दिनेश कार्तिक की शतकीय पारी की मदद से इंडिया रेड ने पहली पारी में 483 का बड़ा विशाल स्कोर खड़ा किया। वहीं इंडिया ब्लू ने अपनी पहली पारी में अभिमन्यू इस्वरन की 127 रनों की पारी की बदौलत 299 रन बनाकर 184 रनों की बढ़त हासिल की। पहली पारी में कप्तान सुरेश रैना केवल 1 रन बनाकर आउट हो गए। इंडिया रेड की तरफ से वाशिंगटन सुंदर और विजय गोहिल ने 5-5 विकेट लिए थे। इंडिया रेड की दूसरी पारी में पृथ्वी शॉ कोई कमाल नहीं दिखा सके और 31 रन बनाकर आउट हुए। इस बार बाबा इंदरजीत (59) ने पारी संभाली और वाशिंगटन सुंदर (42) के साथ मिलकर टीम को 208 के स्कोर तक पहुंचाया। [ये भी पढ़ें: ट्विटर पर फैंस ने विराट के सिर फोड़ा हार का ठीकरा]

393 के विशाल स्कोर का पीछा करते हुए इंडिया ब्लू टीम की शुरुआत खराब रही। 47 रन पर दो विकेट गिरने के बाद मनोज तिवारी ने कप्तान रैना के साथ पारी को संभाला। सुंदर ने पहले 26वें ओवर में तिवारी को एलबीडबल्यू आउट किया और फिर अपने अगले ओवर में रैना को भी 45 रन पर आउट किया। इसके बाद विकेट लगातार गिरते गए। भार्गव भट्ट ने अर्धशतकीय पारी खेल टीम को जीत की उम्मीद दिलाई लेकिन उन्हें दूसरे छोर पर किसी खिलाड़ी का साथ नहीं मिला। सुंदर के 6 विकेट हॉल की बदौलत इंडिया ब्लू 229 पर ऑल आउट हो गई।