Breaking News

    'साउथ अफ्रीका की बदतर हालत के लिए डीन एल्गर जिम्मेदार', बोले पूर्व कप्तान

    साउथ अफ्रीका ने पहली पारी में सिर्फ 189 रन बनाए थे और बुधवार को ऑस्ट्रेलिया ने 386 रन की बढ़त बनाने के बाद पारी घोषित कर दी।

    Updated: December 28, 2022 4:50 PM IST | Edited By: Press Trust of India
    मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान साइमन कैटिच ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में मेहमान टीम के कप्तान डीन एल्गर की रणनीति और फैसलों को ‘बदतर’ करार देते हुए कहा कि मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर दूसरे दिन उन्होंने जो क्षेत्ररक्षण सजाया वह तर्कसंगत नहीं था। दिन की शुरुआत तीन विकेट पर 386 रन से करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी आठ विकेट पर 575 रन बनाकर घोषित की। साउथ अफ्रीका ने पहली पारी में सिर्फ 189 रन बनाए थे और बुधवार को ऑस्ट्रेलिया ने 386 रन की बढ़त बनाने के बाद पारी घोषित कर दी। ऑस्ट्रेलिया के लिए 56 टेस्ट में 4000 से अधिक रन बनाने वाले कैटिच ने कहा कि अगर तेज गेंदबाज एनरिच नोर्किया को अन्य गेंदबाजों से अधिक समर्थन मिलता तो चीजें अलग हो सकती थी। ‘एसईएन रेडियो’ ने कैटिच के हवाले से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि कल (मंगलवार को) एल्गर की रणनीति और फैसले बदतर थे।’' उन्होंने कहा, ‘‘उसने जो क्षेत्ररक्षण सजाया उसके साथ गेंदबाज कोई दबाव नहीं बना पाए। साथ ही वे नई गेंद से सही लेंथ के साथ गेंदबाजी नहीं कर पाए क्योंकि शॉर्ट लेग लगाया गया था और लेग साइड पर रन रोकने के लिए किसी को खड़ा नहीं किया गया था।’’ कैटिच ने संकेत दिए कि एल्गर ने एमसीजी की पिच पर आक्रामक क्षेत्ररक्षण नहीं लगाया जबकि पारंपरिक रूप से इस मैदान पर ऐसे गेंदबाजों को सफलता मिलती है जो स्टंप पर गेंद कराते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘एमसीजी पर आप बल्लेबाज को बोल्ड, पगबाधा करने के लिए स्टंप को निशाना बनाते हो और विकेटकीपर तथा स्लिप की भूमिका भी महत्वपूर्ण होती है। (मार्को) जेनसन ने शानदार गेंदबाजी की लेकिन उन्हें बहुत कम गेंदबाजी दी गई।’’ नोर्किया ने बेहतरीन गेंदबाजी की और दक्षिण अफ्रीका के सबसे प्रभावी तेज गेंदबाज नजर आए लेकिन इसके बावजूद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे दिन 331 रन बनाए और सिर्फ दो विकेट गंवाए। सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने दोहरा शतक जड़ा जबकि पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने 85 रन की पारी खेली। उन्होंने कहा, ‘‘नोर्किया ने कल बेहतरीन गेंदबाजी की और ऐसा वह अपनी गति तथा आक्रामकता के कारण कर पाया। अगर नोर्किया को अच्छा समर्थन मिला तो नतीजा अलग हो सकता था।’’ कैटिच ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि (कागिसो) रबाडा ने निराश किया क्योंकि उसने पांच रन प्रति ओवर से अधिक की गति से रन दिए और कभी दबाव नहीं बना पाया। (लुंगी) एनगिडी को संभवत: नहीं खेलना चाहिए था क्योंकि वह बिलकुल भी दबाव नहीं बना पाया। ’’
    Advertisement
    Advertisement