मार्लोन सैम्युअल्स  © Getty Images
मार्लोन सैम्युअल्स © Getty Images

वेस्टइंडीज के धाकड़ बल्लेबाज मार्लोन सैम्युअल्स को फाइनल मैच में इंग्लैंड के विरुद्ध  उनकी 66 गेंदों में 85 रनों की पारी के लिए मैन ऑफ द  मैच पुरस्कार से नवाजा गया। इस पारी के दौरान उन्हें एक मौके पर आउट भी दे दिया गया था जब इंग्लैंड के विकेटकीपर जॉस बटलर ने उन्हें कैच कर लिया था, लेकिन जब उस कैच की जांच की गई तो पता चला कि वह कैच सफाई से नहीं पकड़ा गया था और बाद में सैम्युअल्स को वापस मैदान पर बुला लिया गया। सैम्युअल्स जो उस समय 40  रनों के आसपास खेल रहे थे उन्होंने इस वाकए के बाद अपने हाथ खोले और मैदान के चारों ओर चौकों और छक्कों की बरसात कर दी। अंतिम ओवर में  चार छक्के जड़ते हुए ब्रेथवेट ने जीत को वेस्टइंडीज के कदमों पर पटक दिया। इस जीत के साथ वेस्टइंडीज विश्व की पहली टीम बन गई जिसने टी20 विश्व कप टाईटल दो बार जीते हैं। इसके पहले उन्होंने साल 2012 में विश्व कप टी20 जीता था। इस मैच में मैन ऑफ द मैच रहे सैम्युअल्स ने नासिर हुसैन से संक्षिप्त बातचीत की। वेस्टइंडीज बनाम इंग्लैंड, फाइनल, आईसीसी टी20 विश्व कप 2016 स्कोरकार्ड देखने के लिए क्लिक करें

अपनी इस बातचीत के अंत में उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई पूर्व क्रिकेटर शेन वॉर्न पर जमकर भड़ास निकाली। शेन वॉर्न ने सैम्युअल्स के सेमीफाइनल में आउट होने को लेकर उनकी आलोचना करते हुए कहा था कि उन्होंने अपना विकेट बेपरवाही से फेंक दिया। उन्होंने कॉमेंट्री बॉक्स में कॉमेंट्री करते हुए कहा था कि यह ‘शर्मनाक’ है। इस बात पर प्रतिक्रिया देते हुए सैम्युअल्स ने कहा, “मैं आज सुबह दिमाग में एक बात लिए हुए उठा था। शेन वॉर्न लगातार बात कर रहे थे। मैं यही वॉर्न को बताना चाहता था। मैं बैट से जवाब देता हूं, मैं माइक से जवाब नहीं देता।” सैम्युअल्स को उनकी 66 गेंदों में 85 रनों की नाबाद पारी के लिए मैन ऑफ द मैच पुरस्कार से नवाजा गया।