इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 सीजन कोरोनावायरस की भेंट चढ़ सकता है. भारत में अब तक कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 73 हो गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने बुधवार को इसे महामारी घोषित कर दिया. इस वायरस के संक्रमण से दुनियाभर में अब तक 4,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि एक लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं.

बंगाल क्रिकेट संघ ने तीसरे वनडे के लिए टिकटों की बिक्री पर लगाई रोक

विदेश मंत्रालय ने कोरोना वायरस के खौफ के कारण गुरुवार को इस साल आईपीएल का आयोजन नहीं करने की सलाह दी लेकिन इस संबंध में अंतिम फैसला आयोजकों पर छोड़ दिया.

यह बात विदेश मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव दम्मू रवि ने कही जिन्हें कोरोना वायरस प्रकोप से निबटने के प्रयासों में समन्यवय के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है.

आईपीएल और अन्य खेल प्रतियोगिताओं से जुड़े सवाल के बारे में रवि ने कहा कि सरकार की सलाह यही है कि, ‘इस बार इनका आयोजन नहीं हो लेकिन अगर आयोजक चाहते हैं कि प्रतियोगिताएं हों तो यह उनका फैसला है.’

रवि ने संवाददाताओं से कहा, ‘हम भारत में होने वाली इस तरह की खेल प्रतियोगिताओं और पूर्व में तय किये गए बड़े आयोजनों के संबंध में विभिन्न आग्रहों का आकलन कर रहे हैं. यह फैसला आयोजकों को करना है कि वे इनका आयोजन करना चाहते हैं या नहीं. हमारी सलाह यही होगी कि इस बार इनका आयोजन नहीं करें लेकिन अगर वे तब भी इन्हें आयोजित करना चाहते हैं तो यह उनका फैसला है.’

आईपीएल के संदर्भ में एक अन्य सवाल पर रवि ने कहा कि यह आयोजकों का व्यावसायिक फैसला है.

उन्होंने कहा, ‘हमें आकलन करना होगा कि क्या इसको लेकर विशिष्ट दिशा-निर्देश जारी किए जाने की जरूरत है या नहीं, लेकिन इस साल के आखिर में तोक्यो ओलंपिक जैसे खेल महाकुंभ का आयोजन भी होना है इसलिए आयोजन का हमारा फैसला लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए किया गया है. हम सही समय पर इसकी समीक्षा करेंगे.’

भारतीय खेलों पर CoronaVirus की पड़ी मार: इन प्रतियोगिताओं से दर्शकों को रखा जाएगा दूर

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘हमारा मानना है कि यह फैसला आयोजकों को करना है. भारत में आईपीएल या किसी अन्य खेल प्रतियोगिता के आयोजन को लेकर विदेश मंत्रालय ने कोई विशेष सिफारिशें नहीं मांगी हैं या दी हैं.’

गौरतलब है कि कोरोनावायरस की वजह से देश-विदेश में कई खेल की प्रतियोगिताएं रद्द हो गई हैं.