NZ में शर्मानाक हार पर भड़के भारतीय दिग्‍गज, लक्ष्‍मण-बेदी ने विराट के लिए कही ये बात
Virat Kohli with Tim Southee @ Twitter

टेस्‍ट सीरीज में भारत के 0-2 से क्‍लीन स्‍वीप (India vs New Zealand) होने के बाद पूर्व क्रिकेटर बिशन सिंह बेदी (Bishan Singh Bedi), वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) और संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) टीम इंडिया की जमकर क्‍लास लगाई। उन्‍होंने विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्‍तानी वाली भारतीय टीम की रणनीति पर सवाल उठाए।

भारत को क्राइस्टचर्च में दूसरे टेस्ट में तीन दिन के भीतर सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा जबकि वेलिंगटन में टीम ने पहला टेस्ट 10 विकेट से गंवाया था।

पढ़ें:- कंगारू दिग्‍गज का तंज, ‘जबसे रोहित शर्मा चोटिल हुए हैं भारत एक भी मैच नहीं जीत पाया है”

बेदी ने ट्वीट किया, ‘‘क्या कोई बता सकता है कि न्यूजीलैंड ने दुनिया की नंबर एक टीम पर पूरी तरह से दबदबा कैसे बनाया? मैं सही कारण नहीं समझ पा रहा हूं। क्या किसी व्यक्ति को अपमानित किए बगैर कोई मेरी मदद कर सकता है। इस बीच, धैर्य रखने, शांत चित्त रहने और प्रतिबद्धता दिखाने के लिए न्यूजीलैंड की सराहना कीजिए।’’

वीवीएस लक्ष्मण का मानना है कि सीरीज के दौरान भारतीय टीम अनुशासित नहीं थी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘भारत को हराने और टेस्ट सीरीज आसानी से जीतने के लिए न्यूजीलैंड को बधाई। भारत जरूरी अनुशासन नहीं दिखा पाया और यह बेहद निराशाजनक है।’’

पढ़ें:- जिम्बाब्वे को हरा बांग्लादेश ने दर्ज की वनडे इतिहास की अपनी सबसे बड़ी जीत

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने कहा कि 2018 के इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका दौरों के विपरीत इस सीरीज में कोहली की टीम प्रतिस्पर्धा भी पेश नहीं कर पाई।

चोपड़ा ने कहा, ‘‘कोहली के नेतृत्व में भारत ने विदेशी सरजमीं पर अधिकतर टेस्ट मैच में अच्छी प्रतिस्पर्धा पेश की है लेकिन यह सीरीज अलग थी। भारत ने सिर्फ हिस्सा लिया। बल्लेबाजी और न्यूजीलैंड के निचले क्रम को आउट करने में विफलता ने भारत को निराश किया।’’

ट्विटर पर सवाल-जवाब के दौरान पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने राष्ट्रीय टीम को सलाह दी। मांजरेकर ने कहा, ‘‘पुछल्ले बल्लेबाजों को आउट करने का जरूरत से अधिक प्रयास कर रहे हैं? सर्वश्रेष्ठ यह है कि सामान्य योजना अपनाइए जो आपने शीर्ष क्रम के खिलाफ अपनाई। अब पुछल्ले बल्लेबाजों को पहले बाउंसर और फिर यार्कर फेंककर आउट करना आसान नहीं है।’’