Harbhajan recalls Sreesanth slapgate row, said- I made a mistake
Twitter

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) विवादों से अछूता नहीं रहा है और इससे जुड़े सबसे बड़ विवादों में से एक है हरभजन का पहले सीजन श्रीसंत को मैदान पर थप्पड़ मारना। IPL 2008 में हरभजन सिंह मुंबई इंडियंस का हिस्सा थे जबकि श्रीसंत पंजाब किंग्स की ओर से खेल रहे थे। इस दौरान एक मैच में अचानक बात करते हुए भज्जी ने सभी खिलाड़ियों के सामने श्रीसंत को थप्पड़ जड़ दिया था जिसके बाद पूर्व भारतीय स्पिनर को पूरे सीजन के लिए बैन कर दिया गया था। इस विवाद पर अब हरभजन सिंह का बड़ा बयान आया है। हरभजन ने ग्लांस लाइव फेस्ट में श्रीसंत के सामने माना कि उस मैच में जो भी हुआ उसमें उनकी गलती थी।

हरभजन ने 14 साल बाद अपनी गलती मानते हुए कहा, “IPL के उस मैच में जो हुआ वो गलत हुआ, मेरी तरह से गलत हुआ। उससे मेरे साथी खिलाड़ी और मुझे काफी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। मैं यहां क्या हर प्लेटफॉर्म पर बोल चुका हूं कि अगर मुझे ये गलती सुधारने का मौका मिलेगा तो मैं सुधारना चाहंगा। मैं कभी सोचता हूं तो लगता है कि इसकी कोई जरुरत नहीं थी।”

IPL के पहले सीजन मुंबई इंडियंस को एक मैच में पजांब के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। इस मैच के बाद हरभजन की श्रीसंत से कुछ कहासुनी हुई और इसी दौरान भज्जी ने थप्पड़ जड़ दिया। थप्पड़ खाने के बाद श्रीसंत मैदान में ही फूट-फूटकर रोने लगे। इस विवाद को आज भी IPL के सबसे बड़े विवादों में से एक माना जाता है।

हरभजन और श्रीसंत के इस विवाद को सुलझाने का श्रेय भारत के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को जाता है जिन्होंने दोनों खिलाड़ियों के बीच झगड़ा सुलझाने के लिए एक डिनर का आयोजन किया था। श्रीसंत ने खुद इस बात का खुलासा करते हुए कहा था कि भज्जी और मैंने खाने की टेबल पर अपने सभी मनमुटाव दूर कर लिए थे जिसमें सचिन पाजी का बड़ा हाथ था। पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज श्रीसंत IPL में पंजाब किंग्स और राजस्थान रॉयल्स टीम का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने IPL के 44 मैचों में 40 विकेट अपने नाम किये हैं।