Hardik Pandya admits that responsibility brings out the best in him
BCCI

गुजरात टाइटन्स को पहले ही सीजन खिताब जिताने वाले हार्दिक पांड्या ने माना है कि जिम्मेदारी मिलने पर वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाते हैं। हार्दिक की कप्तानी में टीम इंडिया रविवार को दो मैचों की T20I सीरीज के पहले मैच में मेजबान आयरलैंड का सामना करेगी। ये मुकाबला डबलिन में खेला जाएगा।

पांड्या ने पहले आयरलैंड के खिलाफ पहले T20I मैच से पहले वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘पहले भी मुझे जिम्मेदारी लेने में मजा आता था और अब भी ऐसा ही है लेकिन अब थोड़ी ज्यादा जिम्मेदारी आ गयी है। मेरा हमेशा मानना है कि मैंने जिम्मेदारी लेने के बाद बेहतर किया है। ’’

हार्दिक ने कहा, ‘‘अगर मैं अपनी चीजों की जिम्मेदारी लेता हूं और अपने फैसले करता हूं तो वे मजबूत होते हैं। क्रिकेट इस तरह का खेल है जिसमें अलग अलग कंडीशन में मजबूत बने रहना बहुत महत्वपूर्ण है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे हमेशा जब भी जिम्मेदारी दी गयी तो मैंने इसे संभाला इसलिये ही मैं बेहतर बन पाया हूं। कप्तानी करते हुए मैं ये देखूंगा कि में हर खिलाड़ी को यही जिम्मेदारी कैसे सौंप सकता हूं। ’’

हार्दिक को महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की कप्तानी में खेलने का अनुभव है लेकिन उनका मानना है कि हर कप्तान का टीम को संभालने का अपना तरीका होता है। उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित रूप से मैंने धोनी और कोहली से काफी चीजें सीखी हैं, लेकिन साथ ही मेरे खुद के फैसले भी होते हैं, मेरी खेल की समझ अलग है लेकिन मैंने उनसे काफी अच्छी चीजें सीखी हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं सहज प्रवृत्ति का व्यक्ति नहीं हूं मैं लेकिन अंदर से फैसला करने के बजाय परिस्थितियों को देखता हूं। किस समय टीम को किस फैसले की जरूरत है, मैं इस पर फोकस करता हूं। मुझे भारत की कप्तानी की जिम्मेदारी दी गयी है, ये अपने आप में एक बड़ी चीज है। ’’ भारतीय टीम आयरलैंड के खिलाफ सीरीज में अपने रिजर्व खिलाड़ियों को मौका देने जा रही है और हार्दिक ने कहा कि टीम के पास जो ‘बेंच स्ट्रेंथ’ है वो देश में खेल के लिये काफी अच्छा संकेत है।

उन्होंने कहा, ‘‘अगर ऐसी स्थिति आती है कि हमें दो टीमें भेजनी पड़ें तो हम भाग्यशाली हैं कि हमारे पास उतनी ‘बेंच स्ट्रेंथ’ है जहां हम खिलाड़ियों को भेज सकते हैं और इससे काफी लोगों को मौके मिलेंगे। ’’ हार्दिक ने कहा, ‘‘भारत में इतनी प्रतिभा है कि लोगों को मौके ही नहीं मिलते। भारत के लिये खेलना हमेशा एक सपना होता है और उनके लिये यह सपना साकार करना सचमुच शानदार होगा। ’’

एजेंसी- भाषा