Herschelle Gibbs claims that BCCI is preventing him for playing Kashmir Premier League
हर्शल गिब्स © Getty Images

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर हर्शल गिब्स ने दावा किया है कि बीसीसीआई उन्हें कश्मीर प्रीमियर लीग में खेलने से रोकने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है, यहां तक कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोसल बोर्ड ने उन्हें धमकी भी दी है।

पूर्व सलामी बल्लेबाज ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए इन आरोपों को सार्वजनिक किया। उन्होंने लिखा, “पूरी तरह से अनावश्यक, @BCCI पाकिस्तान के साथ अपने राजनीतिक एजेंडे को समीकरण में लाने के लिए और मुझे @kpl_20 में खेलने से रोकने की कोशिश कर रहा है। साथ ही मुझे धमकी देते हुए कहा कि वो मुझे क्रिकेट से जुड़े किसी भी काम के लिए भारत में प्रवेश नहीं करने देंगे। बेहूदा।”

इससे पहले पूर्व पाक क्रिकेटर राशिद लतीफ ने भी बीसीसीआई पर इसी तरह के आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा, “@BCCI क्रिकेट बोर्डों को चेतावनी देता है कि यदि उनके पूर्व खिलाड़ियों ने कश्मीर प्रीमियर लीग में भाग लिया, तो उन्हें भारत में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी या किसी भी स्तर पर या किसी भी क्षमता में भारतीय क्रिकेट में काम करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। गिब्स, दिलशान, @MontyPanesar और कई अन्य लोगों को KPL में चुना गया है।”

कश्मीर प्रीमियर लीग पाकिस्तानी राजनेता शहरयार खान अफरीदी द्वारा शुरू किया गया एक टूर्नामेंट है। टूर्नामेंट में छह टीमें होंगी: ओवरसीज वॉरियर्स, मुजफ्फराबाद टाइगर्स, रावलकोट हॉक्स, बाग स्टैलियन्स, मीरपुर रॉयल्स और कोटली लायंस टूर्नामेंट की छह टीमें हैं। इमाद वसीम, मोहम्मद हफीज, शाहिद अफरीदी, शादाब खान, शोएब मलिक और कामरान अकमल अपनी-अपनी टीमों के कप्तान हैं।

हर टीम में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के पांच खिलाड़ी होंगे। ये क्षेत्र भारत और पाकिस्तान के बीच विवादित रहा है, और दोनों पड़ोसियों के बीच विवाद की हड्डी बना हुआ है। मैच मुजफ्फराबाद क्रिकेट स्टेडियम में खेले जाएंगे।