केन विलियमसन © Getty Images
केन विलियमसन © Getty Images

चैंपियंस ट्रॉफी के दूसरे मैच में न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने शानदार शतकीय पारी खेली। विलियमसन ने 97 गेंद में 100 रन बनाए। विलियमसन का स्ट्राइक रेट 103.09 रहा और उन्होंने 8 चौके और 3 छक्के लगाए। विलियमसन चैंपियंस ट्रॉफी में शतक लगाने वाले पहले कीवी कप्तान हैं यही नहीं ये उनका ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला शतक है। विलियमसन का ये वनडे में 9वां शतक है और इसके साथ ही उन्होंने न्यूजीलैंड के सबसे सफल कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग को शतक लगाने के मामले में पीछे भी छोड़ दिया।

विलियमसन ने खेली कप्तानी पारी

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ न्यूजीलैंड को मार्टिन गप्टिल और ल्यूक रॉन्की ने अच्छी शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 40 रन जोड़े। कप्तान विलियमसन गप्टिल के आउट होने के बाद क्रीज पर आए और उन्होंने अपने चिर-परिचित अंदाज में अपनी पारी आगे बढ़ाई। विलियमसन ने पहले गेंद पर आंखें जमाई और मौका मिलने पर गेंद को बाउंड्री की दिशा दिखाई। कप्तान विलियमसन ने 62 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया और उन्होंने अपने शतक के लिए सिर्फ 96 गेंद खेली। ये भी पढ़ें-चैंपियंस ट्रॉफी, दूसरा मैच- ऑस्ट्रेलिया बनाम न्यूजीलैंड का स्कोरकार्ड

अपनी शतकीय पारी के दौरान केन विलियमसन ने दो बेहतरीन साझेदारियां भी की। ल्यूक रॉन्की के साथ विलियमसन ने सिर्फ 60 गेंद में 77 और टेलर के साथ 109 गेंद में 99 रन जोड़े। विलियमसन ने सबसे ज्यादा रन जॉन हेस्टिंग्स की गेंदों पर बटोरे। विलियमसन ने हेस्टिंग्स की 25 गेंदों पर 42 रन बनाए। वैसे विलियमसन के 100 रन पर आउट होने का कीवी टीम को खासा नुकसान हुआ। एक समय बड़े स्कोर की ओर बढ़ रही कीवी टीम 45 ओवर में 291 रन पर ऑल आउट हो गई।कीवी टीम ने आखिरी 7 विकेट सिर्फ 37  रन पर गंवाए।