ICC CRICKET WORLD CUP 2019: Sachin Tendulkar credits Rohit Sharma’s mindset for his consistency in WC
Sachin Tendulkar @IANS (file image)

रोहित शर्मा मौजूदा विश्व कप में पहले ही रिकॉर्ड 5 शतक जड़ चुके हैं। महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने मुंबई के अपने साथी क्रिकेटर के लगातार अच्छे प्रदर्शन का श्रेय उनकी मानसिकता को दिया है।

किसी एक विश्व कप में सर्वाधिक शतक का रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले मुंबई के रोहित ने दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान, बांग्लादेश, इंग्लैंड और श्रीलंका के खिलाफ शतक जड़े और वह टूर्नामेंट में शीर्ष स्कोरर हैं।

पढ़ें: आईपीएल ने खिलाड़ियों को दबाव से निपटने में मदद की: लियाम प्लंकेट

तेंदुलकर ने कहा, ‘काफी समय पहले, किरण मोरे अंडर-19 टीम के चयनकर्ता थे और उन्होंने मुझे कहा कि तुम्हें रोहित शर्मा नाम के इस खिलाड़ी को देखना चाहिए। उसकी ‘बैट स्विंग’ शानदार है।’

उन्होंने कहा, ‘बार-बार मुझे पूछा जाता है कि रोहित शर्मा में विशेष क्या है और मुझे लगता है कि यह उनकी बैट स्विंग है जो काफी खिलाड़ियों के पास नहीं है।’

तेंदुलकर ने कहा, ‘मैंने सुना था कि वह गेंदबाज बनना चाहता था और इसके बाद धीरे-धीरे कोच के कहने पर बल्लेबाजी पर ध्यान देने लगा और इस दौरान उसने जो हासिल किया वह बेहतरीन है।’

रोहित ने एक विश्व कप में सर्वाधिक शतक का श्रीलंका के दिग्गज कुमार संगकारा का रिकॉर्ड तोड़ा।

पढ़ें: पूर्व दिग्गजों ने मैनचेस्टर की धीमी पिच पर उठाए सवाल

तेंदुलकर ने रोहित की मानसिकता की तारीफ की और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टीम के पहले मैच का उदाहरण दिया जिसमें इस सलामी बल्लेबाज ने मुश्किल हालात में भारत को लक्ष्य तक पहुंचाया।

उन्होंने कहा, ‘हमने बात की कि शुरुआती छह वर्ष में वह काफी सफलता हासिल नहीं कर पाया लेकिन पिछले छह साल उसके लिए बेहद विशेष रहे।’

तेंदुलकर ने जोर देकर कहा कि रोहित के प्रदर्शन की निरंतरता उनकी मानसिकता के कारण है।

उन्होंने कहा, ‘हमने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले मैच में देखा, गेंद उनके बल्ले के बीच में नहीं लग रही थी लेकिन उसने हार नहीं मानी। वह खड़ा रहा और समय आने का इंतजार किया और हम सभी को पता है कि इसके बाद क्या हुआ।’

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह उसकी मानसिकता और उसके शॉट चयन के कारण है जिसने उसे यहां तक पहुंचाया है। इस विश्व कप में उसके प्रदर्शन में निरंतरता का कारण उसकी मानसिकता है।’