चन्द्रपॉल टेस्ट क्रिकेट में सातवें सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं © Getty Images
चन्द्रपॉल टेस्ट क्रिकेट में सातवें सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं © Getty Images

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने हाल ही में अतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके वेस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज शिवनारायण चंद्रपॉल को भविष्य के खिलाड़ियों के लिए प्रेरणास्रोत बताया है। चंद्रपॉल ने कई महीनों तक टीम में न चुने जाने के बाद संन्यास की घोषणा की थी। समाचार एजेंसी सीएमसी ने सोमवार को आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचर्डसन के हवाले से कहा, “चंद्रपॉल एक भरोसेमंद और असरदार बल्लेबाज के रूप में जाने जाएंगे। उनकी बल्लेबाजी में विविधता थी। उनका शानदार डिफेंस और आक्रामक अंदाज काफी शानदार था। वह जरूरत के मुताबिक अपने खेल को ढाल लेते थे।” ALSO READ: नंबर एक टेस्ट टीम बनी टीम इंडिया

उन्होंने आगे कहा कि पिछले दो दशक तक चंद्रपॉल ने न सिर्फ अपनी बल्लेबाजी, बल्कि अपने व्यवहार से भी एक प्रेरणास्रोत की छवि बनाई है। चंद्रपॉल वेस्टइंडीज की तरफ से टेस्ट मैचों में ब्रायन लारा के दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। टेस्ट में चंद्रपॉल के नाम 11,867 रन हैं। उनके नाम टेस्ट में 30 शतक और 52 अर्धशतक भी दर्ज हैं। चंद्रपॉल ने 14 टेस्ट मैचों में टीम की कप्तानी भी की है। टेस्ट क्रिकेट में चन्द्रपॉल सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दुनिया के सातवें बल्लेबाज है। उनसे ज्यादा रन सिर्फ सचिन तेंदुलकर, रिकी पोंटिंग, जाक कालिस, राहुल द्रविड़, कुमार संगाकारा और ब्रायन लारा ने बनाए हैं।

अपने अजीबोगरीब बल्लेबाजी स्टांस के लिए मशहूर चंद्रपॉल एकदिवसीय क्रिकेट में भी कैरेबियाई टीम का आधार स्तंभ बने रहे। उन्होंने 268 एकदिवसीय मैचों में 41 की औसत से 8,778 रन बनाए। चन्द्रपॉल ने अपने एकदिवसीय करियर में 11 शतक और 59 अर्धशतक जमाए। चन्द्रपॉल के संन्यास लेने के बाद वेस्टइंडीज टीम में मध्यक्रम में कोई भी अनुभवी बल्लेबाज नहीं बचा है।