icc wtc final actually a match between two amazing cricket brains says brett lee
विराट कोहली और केन विलियमसन @Twitter

करीब दो सप्ताह बाद भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) की टीमें इंग्लैंड के साउथम्पटन में आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप (ICC World Test Championship) के फाइनल मुकाबले में आमने-सामने होंगी. दुनिया के क्रिकेट एक्सपर्ट्स इस मैच पर अपनी-अपनी राय दे रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली (Brett Lee) ने इस मैच को लेकर अपनी राय रखी है. उन्होंने कहा WTC फाइनल सही मायनो में दो अलग-अलग स्टाइल की कप्तानी के बीच जंग है.

ली ने भारत के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन (Kane Williamson) की कप्तानी की तुलना है. उन्होंने कहा कि सभी जानते हैं कि कोहली एक आक्रामक कप्तान हैं, जबकि विलियमसन बिना बोर हुए रूढ़ीवादी कप्तान हैं.

ऑस्ट्रेलिया के लिए 76 टेस्ट और 221 वनडे मैच खेलने वाले ली ने कहा, ‘जब आप इस समय के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को देखते हैं तो कोहली पर से नजर हटाना मुश्किल है. उनका रिकॉर्ड शानदार है. इस उम्र में वह लगातार अपने खेल में सुधार कर रहे हैं.’

कोहली की तारीफ में इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, ‘कोहली गतिशील खिलाड़ी हैं और टीम के लिए प्रेरणास्रोत्र हैं. मेरे ख्याल यह इसलिए है क्योंकि उन्हें पता है कि टेस्ट क्रिकेट उनके लिए, टीम के लिए और देश के लिए कितना महत्वपूर्ण है.’

उन्होंने कहा, ‘हमें पता है कि कोहली बड़े अवसर में अच्छा करते हैं और वह चाहेंगे कि उनकी टीम डब्ल्यूटीसी की पहली विजेता बने. उनके लिए यह बहुत मायने रखता है.’

अपने करियर में 310 टेस्ट विकेट और 380 वनडे विकेट लेने वाले ली ने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन की कप्तानी की तारीफ करते हुए कहा, ‘विलियमसन बोर हुए बिना ज्यादा रूढ़ीवादी हैं और उनके पास क्रिकेट का अच्छा दिमाग है. मैं उनके संयम के स्तर का कायल हूं, इसलिए मैं कहता हूं कि वह बोरिंग कप्तान नहीं हैं.’

उन्होंने कहा, ‘दूसरी तरफ कोहली हैं और एक आक्रमक कप्तान हैं. इन दोनों के लिए कोई सही या गलत जवाब नहीं है क्योंकि मैं ऐसे कप्तानों के साथ खेला हूं, जो अपरिवर्तनवादी भी थे और आक्रमक भी थे. लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि कौन बाजी मारेगा.’