भारतीय टीम लंबे समय से एक फास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर की तलाश कर रही है. उसे हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) में अपनी यह तलाश पूरी होती दिख रही थी कि यह खिलाड़ी पीठ की चोट से जूझने लगा. कमर की सर्जरी के बावजूद फिट हो चुके पांड्या अभी भी बॉलिंग फिट नहीं हुए हैं. वह अब गेंदबाजी से दूर ही दिखते हैं. इसके चलते उन्हें टेस्ट टीम से अपनी जगह गंवानी भी पड़ी है. भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज अजीत अगरकर (Ajit Agarkar) मानते हैं कि अगर पांड्या फिर से बॉलिंग करने लगें तो इससे टीम इंडिया और कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की कई मुश्किलें हल हो जाएंगी.

इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज खेलने गई टीम इंडिया (India Tour of England) का फोकस आगामी टी20 वर्ल्ड कप पर भी है. अजीत अगरकर (Ajit Agarkar) मानते हैं कि पांड्या (Hardik Pandya) के बॉलिंग करने से सीमित ओवरों की सीरीज में भारतीय टीम (Team India) को बेहतर संतुलन मिलता है.

इस पूर्व तेज गेंदबाज ने उम्मीद जताई कि इस समय श्रीलंका दौरे पर सीमित ओवरों की सीरीज के लिए भारतीय टीम के साथ गए हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) वहां बॉलिंग करते हुए जरूर दिखाई देंगे.

43 वर्षीय अजीत अगरकर (Ajit Agarkar) सोनी स्पोर्ट्स के एक कार्यक्रम में अपनी राय रख रहे थे. उन्होंने कहा, ‘आपको टीम में छठे बॉलिंग विकल्प की तलाश है और हार्दिक (Hardik Pandya) इसके लिए शानदार च्वाइस हैं, वह एक सीम बॉलिंग ऑलराउंडर हैं. उम्मीद है कि वह बॉलिंग करेंगे, क्योंकि उनकी बॉलिंग विराट कोहली (Virat Kohli) के लिए कई समस्याओं का हल कर देगी.’

इससे पहले हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई सीमित ओवरों की घरेलू सीरीज में थोड़ी-बहुत बॉलिंग करते दिखाई दिए थे लेकिन आईपीएल (IPL 2021) के पहले हाफ में वह फिर बॉलिंग से दूर ही रहे. कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट कई बार हार्दिक को उनकी बॉलिंग उपयोगिता के बारे में बता चुके हैं.