IND vs AUS: Bowlers inability to pick wickets in the beginning is a bigger concern for Indian team, says Aakash Chopra
(Twitter)

विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय टीम के लगातार दो मैच हारने के बाद पूर्व भारतीय बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने हार के असली कारण पर रोशनी डाली। चोपड़ा का कहना है कि गेंदबाजों का शुरुआती ओवरों में विकेट ना लेना टीम इंडिया की सबसे बड़ी समस्या है, जिसे ऑलराउंडर खिलाड़ी ठीक नहीं कर पाएंगे।

अपने यू-ट्यूब चैनल पर पोस्ट किए नए वीडियो में चोपड़ा ने कहा, “अगर आप भारतीय गेंदबाजी की तरफ देखें तो ये साफ है कि हम नई गेंद से विकेट नहीं ले रहे हैं। कितना समय हो चुका है? पिछले तीन वनडे मैचों में भारत के खिलाफ सलामी बल्लेबाजों ने 100 रनों की साझेदारी बनाई है।”

उन्होंने कहा, “अगर आप नई गेंद से विकेट नहीं लेते हैं, पहले 20 ओवरों में कोई विकेट नहीं गिरता है, तो फिर आप किससे गेंदबाजी कराते हैं, इससे फर्क नहीं पड़ता।”

भारतीय कमेंटेटर चोपड़ा ने हार्दिक पांड्या के बारे में भी बात की, जिन्होंने दूसरे वनडे मैच में एक साल के बाद गेंदबाजी की। उन्होंने कहा, “हालांकि हमने हार्दिक पांड्या को गेंदबाजी करते देखा लेकिन काफी देर हो चुकी थी। उन्होंने विकेट भी लिया, उन्होंने स्टीव स्मिथ का विकेट लिया। लेकिन अगर आपके शीर्ष गेंदबाज विकेट नहीं लेते हैं, तो फिर छठां, सातवां और आठवां विकल्प क्या कर लेगा।”

आवेश में आकर बार-बार गेंदबाज बदलते हैं विराट कोहली: आशीष नेहरा

पूर्व बल्लेबाज ने साफ कहा कि अगर मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह विकेट नहीं लेंगे तो पांड्या जैसे ऑलराउंडर खिलाड़ी कुछ नहीं कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, “इसलिए एक परेशानी जो कि बढ़ा-चढ़ाकर दिखाई जा रही है वो है ऑलराउंडर की कमी लेकिन पहली बात को ये कि हमारे पास कितने ऑलराउंडर हैं? और अगर वो उपलब्ध है, तो आप उन्हें कहां खिलाएंगे? अगर आप शीर्ष पर विकेट नहीं लेंगे, तो बीच के ओवरों में कोई मदद नहीं मिलेगी, इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके पास कितने ऑलराउंडर हैं।”