India vs Australia: Australia ‘fully expect’ to play at the Gabba, Brisbane, says Matthew Wade
द गाबा, ब्रिसबेन (Getty images)

भारतीय क्रिकेट टीम के बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी सीरीज के चौथे मैच के लिए ब्रिसबेन जाने से इंकार करने की खबरों के बीच ऑस्ट्रेलिया टीम के सलामी बल्लेबाज मैथ्यू वेड ने कहा है कि उन्हें चौथा टेस्ट गाबा स्टेडियम में ही खेले जाने की उम्मीद है।

दरअसल टीम इंडिया के खिलाड़ी सिडनी से ब्रिसबेन जाने पर एक बार फिर से अपने होटल के कमरों में क्वारेंटीन होने की संभावना से डरे हुए हैं। वेड ने भी माना कि ब्रिसबेन पहुंचने पर खिलाड़ियों को सख्त क्वारेंटीन प्रोटोकॉल का सामना करना पड़ सकता है।

रविवार को आयोजित वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के दौरान वेड ने कहा, “मेरे हिसाब से, इसमें कोई अनिश्चितिता नहीं है, बाहर काफी सारी बातें हो रही हैं और हम इसे समझते हैं। हमारे लिए एक ग्रुप के तौर पर, हम केवल इस बारे में सोच रहे हैं कि हम तीसरा टेस्ट सिडनी में खेलेंगे और फिर चौथा टेस्ट खेलने के लिए ब्रिसबेन जाएंगे, जब तक कि प्रशासक हमें ये नहीं बताते कि योजना में बदलाव हो गया है, हम अगले मैच में यहीं सोचकर उतरेंगे कि जो भी आगे होने वाला है उस पर हमारा नियंत्रण नहीं है।”

India vs Australia: चौथे टेस्ट के लिए ब्रिसबेन नहीं जाना चाहती है टीम इंडिया; खतरे में सीरीज

वेड ने आगे कहा, “इसे लेकर थोड़ी अनिश्चितिता है, ब्रिसबेन में यहां के मुकाबले सख्त क्वारेंटीन या बायो सिक्योर बबल होने की संभावना है, ये निश्चित है। किसी को भी पूरी जानकारी है लेकिन ब्रिसबेन में यहां के मुकाबले सख्त प्रोटोकॉल होगा। हम चाहेंगे कि ब्रिसबेन टेस्ट की बलि ना चढ़ाई जाय, शेड्यूल बनाया जा चुका है, मेलबर्न में रुकने को लेकर भी चर्चा हुई थी लेकिन हम इस पर टिके रहे, हमें चौथा टेस्ट खेलने के लिए ब्रिसबेन जाने की पूरी उम्मीद है।”

गाबा में ऑस्ट्रेलिया के शानदार रिकॉर्ड के बारे में वेड ने कहा, “ये बात किसी से छुपी नहीं है कि हम अपना सीजन गाबा से शुरू करना पसंद करते हैं, वहां पर हमारा रिकॉर्ड शानदार है और हम वहां अच्छा क्रिकेट खेलते हैं। भारत के पास अच्छा गेंदबाजी अटैक है इसलिए हम गाबा पहुंचने के बाद निश्चित तौर पर उन्हें हल्के में नहीं लेंगे लेकिन हां, हमें ब्रिसबेन में खेलना अच्छा लगता है। हम सिडनी में लगातार दो मैच खेलने के बजाय शेड्यूल के हिसाब से खेलना पसंद करेंगे। ये कोई राज नहीं है कि हमें गाबा पसंद है।”