इंग्लैंड के बल्लेबाजी सलाहकार जोनाथन ट्रॉट (Jonathan Trott) इस बात से बिल्कुल हैरान नहीं है कि टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट (Joe Root) अपने करियर का 100वां मैच खेलने जा रहे हैं। उनका कहना है कि इंग्लैंड टीम काफी खुशकिस्मत है जो उनके पास जैसा एक खिलाड़ी है।

बुधवार को वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ट्रॉट ने साल 2012 के भारत दौरे को याद किया, जहां रूट ने अपने डेब्यू टेस्ट खेला था। उन्होंने कहा, “मैं कहूंगा कि मैं थोड़ा हैरान हूं। मुझे याद है कि उस दौरे पर वो एक वार्म अप मैच में आया था और सभी को अपनी प्रतिभा से प्रभावित किया था। ऐसा खिलाड़ी जिसने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला हो और टीम में नया हो, उसके लिए ये बड़ी बात है।”

उन्होंने कहा, “उसके दिल में अभी भी खेल को लेकर जुनून और बेहतर होने की इच्छा है। इंग्लैंड टीम उसके जैसा खिलाड़ी पाकर बेहद खुशकिस्मत है। जो आगे से नेतृत्व करता हो और मध्यक्रम में बल्लेबाजी करता हो।”

ट्रॉट ने कहा है कि उनकी टीम को अगर भारत के साथ पहले टेस्ट में अच्छा करना है तो उसे पहली पारी में बड़ा स्कोर करना होगा। दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट शुक्रवार से एमए चिदंबरम स्टेडियम में शुरू होगा। ट्रॉट ने कहा, “भारत में खेलने के मूल तत्व वही हैं, जो कहीं और होते हैं। लेकिन भारत में ये वास्तव में महत्वपूर्ण है। स्पिन को खेलना और दबाव में बेहतर प्रदर्शन करने में सक्षम होना सबसे महत्वपूर्ण बात है।”

उन्होंने कहा, “हमने देखा कि उनका (भारत) तेज गेंदबाजी अटैक ऑस्ट्रेलिया में वास्तव में अच्छा रहा है। आजकल हर किसी के पास एक अच्छा तेज गेंदबाजी अटैक है। दोनों के लिए तैयारी करना अहम है। बल्लेबाजों के लिए कौशल का स्तर बहुत ऊंचा होना चाहिए। चेन्नई की गर्मी और उमस में यहां खेलने के लिए आपको बहुत फिट होना चाहिए और आगे बढ़ना होगा।”

मौजूदा इंग्लैंड टीम में कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं, जिन्होंने 2016-17 में पांच मैचों की सीरीज के लिए भारत का दौरा किया था, जिसमें इंग्लैंड 4-0 से हार गया था। ट्रॉट ने कहा कि इस पर चर्चा हुई है।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि खास तौर पर चेन्नई में कुछ फ्लैट विकेट (2016-17 में) थे, जो हाई स्कोरिंग वाला मैच था। पहली पारी महत्वपूर्ण होगी ताकि दूसरी पारी में आप आगे हों। दूसरी पारी में भारत के खिलाफ खेलना मुश्किल है जो अपनी परिस्थितियों में बहुत अच्छे हैं। इसलिए हमें अच्छी शुरुआत करनी होगी।”

इंग्लैंड के लिए ये टेस्ट सीरीज विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण होने वाली है। इंग्लैंड को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में क्वालिफाई करने के लिए भारत को इस सीरीज में 4-0, 3-0 या 3-1 से हराना होगा जो काफी मुश्किल है।